DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘शिव बारात इन देवघर’ को कांस्य पदक

शिवरात्रि महोत्सव समिति देवघर द्वारा निर्मित 15 मिनट लंबी डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘शिव बारात इन देवघर’ को प्रीमिटर अवार्डस की ज्यूरी ने पांचवें स्थान पर रखा है और इस फिल्म को कांस्य पदक के लिए अनुशंसित किया है। फिल्मकार राजेश झा को इसी फिल्म की स्क्रिप्टिंग के लिए सिल्वर स्क्रीन अवार्ड दिया जाएगा। बताते चलें कि राजेश इस फिल्म के निर्देशक भी हैं।

इसके साथ ही यह फिल्म ऑस्कर के सेमीफाइनल राउंड से बाहर हो गई है। ऑस्कर के लिए सेमीफाइनल राउंड में जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी द्वारा निर्मित फिल्म ‘बेस्ट प्रैक्टिसेस : बिल्डिंग ब्लॉक्स फॉर एन्हॉसिंग स्कूल एनवायर्नमेन्ट’ को सवरेत्तम फिल्म चुना गया है।

काउंसिल ऑफ इंटरनेशनल नन टेक्निकल इवेन्ट्स (सिने) की फिल्म गुड किड्स-बैड च्वॉइस को सिने गोल्डेन इगल अवार्ड, अमेरिकन एक्सप्रेस द्वारा निर्मित फिल्म ‘पार्ट ऑफ द टीम’ को गोल्ड अवार्ड तथा मिन्नीसोटा एडवरटाइजिंग फेडरेशन की फिल्म ‘एडफेड 100 : ए शॉर्ट ओरल हिस्ट्री’ को रजत ( डब्ल्यू थ्री सिल्वर अवार्ड) के लिए चुना गया है। इन सबको आगामी 8-12 अगस्त को होने वाले सनडांस डॉक्यूमेंट्री फिल्म फेस्टिवल (डॉक्यूमेंट्री फिल्म का ऑस्कर) के दौरान अवार्ड और प्रशस्ति पत्र दिए जाएंगे।

फिल्मकार राजेश झा ने कहा है कि उनकी योजना 50 लाख रुपए की लागत से देवघर के पंडों के मौखिक इतिहास लेखन में योगदान पर फिल्म बनाने की है। इस बार वह प्रोडक्शन वैल्यू में कोई कमी नहीं आने देंगे ताकि उनकी डॉक्यूमेंट्री फिल्म सनडांस फिल्म फेस्टिवल में अव्वल आए। राजेश ने बताया कि ‘शिव बारात इन देवघर’ का कांटेन्ट पावरफूल था लेकिन प्रोडक्शन वैल्यू कम थी। इसी की वजह से फिल्म पिछड़ गई।

अगर 10 से 12 लाख रुपए की और व्यवस्था कर पाते तो ‘शिव बारात इन देवघर’ अवश्य फाइनल राउंड में प्रवेश पा जाती। उनके अनुसार उनकी फिल्म की लागत मात्र 3 लाख रुपए थी और इसने ढाई करोड़ की लागत वाले फिल्मों के मुकाबले में हिस्सा लिया। उनका दावा है कि अगर उनके पास 25 लाख रुपए इस फिल्म के लिए होते तो यह अवश्य सनडांस फिल्म फेस्टिवल में प्रथम तीन श्रेणी में अपनी जगह बना लेती। फिल्म निर्देशक ने बताया कि इस बार सनडांस फिल्म फेस्टिवल में दक्षिणी कोरिया की फिल्म लॉफ आउट लॉर्ड को प्रथम पुरस्कार मिलने की उम्मीद है क्योंकि प्रलय की आशंकाओं को झुठलाती यह फिल्म जीवन का महत्व बताती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:‘शिव बारात इन देवघर’ को कांस्य पदक