DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रवेश पत्र के साथ लाना होगा पंजीकरण कार्ड

परीक्षा के दौरान जरा सी भी ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। नकल कराते हुए पकड़े गए तो कॉलेज काली सूची में डाल दिया जाएगा। अबकी सिर्फ केन्द्र व्यवस्थापकों पर ही नहीं कक्ष निरीक्षकों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। केन्द्र पर किसी भी बाहरी व्यक्ति को जाने की अनुमति नहीं होगी। यह कहना है डीआईओएस का। बुधवार को वह परीक्षा समिति की बैठक को संबोधित कर रहे थे। डीएम भी बैठक को संबोधित करने वाले थे। लेकिन बैठक के दौरान वह आ नहीं सके।


श्री रत्नमुनि जैन इंटर कॉलेज में बोर्ड परीक्षा समिति की बैठक आयोजित की गयी थी। बैठक में शिक्षा विभाग से जुड़े अधिकारी, एसपी रूरल, सभी 309 केन्द्र व्यवस्थापक, सचल दल के सदस्य, सेक्टर मजिस्ट्रेट और स्ट्रेटेजिक मजिस्ट्रेट भी मौजूद थे। बैठक को संबोधित करते हुए डीआईओएस मनोज कुमार गिरी ने हर हाल में नकल विहीन परीक्षा कराने का दावा किया। इसके लिए उन्होंने केन्द्र व्यवस्थापकों को भी कड़े दिशा-निर्देश दिए। डीएम की जगह बैठक में मौजूद एडीएम सिटी अरूण प्रकाश ने केन्द्र व्यवस्थापकों को भरोसा दिलाते हुए कहा कि अगर कोई भी बाहरी व्यक्ति केन्द्र पर उपद्रव करता है तो आप तत्काल पुलिस-प्रशासन को सूचित करें।

प्रवेश पत्र के साथ लाना होगा पंजीकरण कार्ड
डीआईओएस का कहना है कि हाईस्कूल-इंटर के परीक्षार्थियों को प्रवेश पत्र के साथ नौंवी और ग्याहरवीं का पंजीकरण कार्ड भी लाना होगा। बिना कार्ड और प्रवेश पत्र के परीक्षा केन्द्र में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। जिसकी जिम्मेदारी परीक्षार्थी और उनके अभिभावकों की होगी।


सीधे बोर्ड भेजी जाएंगी नकलचियों की कॉपी
डीआईओएस मनोज कुमार गिरी ने केन्द्र व्यवस्थापकों को चेतावनी देते हुए कहा कि नकलची परीक्षार्थियों की कॉपी अलग से लिफाफे में सील कर उसी दिन क्षेत्रीय कार्यालय को भेजी जाएगी। ऐसा न करने वाले कॉलेज के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। पिछले वर्ष नकल में पकड़े गए करीब 20 परीक्षार्थी फस्र्ट डिवीजन पास हो गए थे। हैरत की बात यह है कि इन्हें खुद डीआईओएस ने ही पकड़ा था।


संकलन केन्द्र पर लेट हुई कॉपी तो होगी कार्रवाई
संकलन केन्द्र पर बोर्ड उत्तर पुस्तिकाएं देरी से भेजना परीक्षा केन्द्रों को भारी पड़ सकता है। डीआईओएस ने इस संबंध में कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि ऐसा देखा गया है कि परीक्षा केन्द्रों से दो-दो घंटे की देरी से कॉपियों के बंडल संकलन केन्द्र, जीआईसी पर पहुँचते हैं। ऐसे कॉलेज के खिलाफ गोपनीय कार्रवाई की जाएगी।


16 को होगी होमसांइस हाईस्कूल की परीक्षा
गलती से होमसाइंस हाईस्कूल प्रश्न पत्र के पैकेट पर 26 मार्च तारीख अंकित हो गयी है। लेकिन होमसाइंस की परीक्षा पहले से निर्धारित तारीख 16 मार्च को ही होगी। डीआईओएस ने केन्द्र व्यवस्थापकों से भ्रमित न होते हुए होमसाइंस हाईस्कूल की परीक्षा 16 मार्च को ही कराने के आदेश दिए हैं।


सीटिंग प्लॉन गड़बड़ हुआ तो होगी कार्रवाई
डीआईओएस ने सभी केन्द्र व्यवस्थापकों को निर्देश देते हुए कहा है कि सीटिंग प्लॉन में जरा भी ढिलाई बर्दाश्त नहीं होगी। हर कमरे में बराबर की संख्या के परीक्षार्थी बैठाए जाएंगे। अगर केन्द्र के इधर-उधर के कमरों में ज्यादा परीक्षार्थी मिले तो केन्द्र के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।


थाने-चौकी पर दें परीक्षा होने की सूचना
डीआईओएस का कहना है कि सभी परीक्षा केन्द्र व्यवस्थापक अपने-अपने नजदीक के थाने-चौकी पर बोर्ड परीक्षा होने की सूचना दें। जिससे प्रश्न पत्रों की पुख्ता सुरक्षा हो सके। वहीं उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि परीक्षा केन्द्रों पर किसी भी बाहरी व्यक्ति को जाने की अनुमति नहीं होगी। अगर कोई भी बाहरी व्यक्ति केन्द्र के अंदर पकड़ा जाता है तो केन्द्र व्यवस्थापक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।


मिट्टी से लीपे जाएंगे ब्लैक बोर्ड
डीआईओएस का कहना है कि सभी परीक्षा केन्द्रों पर परीक्षा के दौरान ब्लैक बोर्ड मिट्टी से लीपे जाएंगे। कॉलेज की लाइब्रेरी पर ताला डाला जाएगा। हैरत की बात यह है कि इस तरह के सभी दिशा-निर्देश जारी करने के दौरान डीआईओएस बार-बार काली सूची में डाले गए 53 कॉलेज का उदाहरण दे रहे थे। उनका कहना था कि अगर केन्द्र पर जरा भी ढिलाई बरती गयी तो उसका हाल भी 53 कॉलेजों के जैसा होगा।


ज्यादा पहुँच गए प्रश्न पत्र
बैठक के दौरान कई केन्द्र व्यवस्थापकों ने अपने केन्द्र पर ज्यादा प्रश्न पत्र आने की शिकायत की। उनका कहना था कि प्रश्न पत्रों का डिब्बा खोलने पर उसमें से कई लिफाफे ज्यादा निकले हैं। ऐसे केन्द्र व्यवस्थापकों के चेहरे पर परेशानी के भाव बखूवी पढ़े जा सकते थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रवेश पत्र के साथ लाना होगा पंजीकरण कार्ड