DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विवि परीक्षाओं पर संकट के बादल

अंबेडकर विवि की मुख्य परीक्षाओं पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। परीक्षाओं में सिर्फ नौ दिन शेष हैं। जबकि विवि अभी तक रिजल्ट के झमेले में फंसा है। मार्कशीट के करैक्शन चल रहे हैं। इधर विवि ने परीक्षॉ फॉर्म भरने की अंतिम तिथि 18 मार्च कर दी है। इस तिथि तक मार्कशीट की शिकायतें निपटना मुश्किल हैं। परीक्षा फॉर्म भरवाना और प्रवेश पत्र जारी करना भी आसान काम नहीं है।

मुख्य परीक्षाएँ 23 मार्च से शुरू हो रही हैं। इस लिहाज से परीक्षाओं में अब नौ दिन शेष हैं। विवि को इस बीच रोल लिस्ट, प्रवेश पत्र, अटेंडेस शीट तैयार कर लेनी होंगी। इन्हें संबंधित नोडल सेंटरों पर भेजना होगा। साथ ही रेगुलर और प्राइवेट परीक्षार्थियों को प्रवेश पत्र पहुंचाना भी विवि की जिम्मेदारी है। फिलहाल इसकी कोई तैयारी नहीं दिख रही। इधर रिजल्ट का करैक्शन चल रहा है। 18 मार्च तक मार्कशीट करैक्शन का काम भी निपट पाना मुश्किल है। अभी कई हजार छात्र-छात्रएँ मार्कशीट के इंतजार में हैं। इनके बिना वे अगली कक्षा में प्रवेश नहीं ले पाएँगे। इसी तारीख तक विवि में रेगुलर और प्राइवेट परीक्षा फॉर्म जमा कराए जाएँगे। फॉर्म जमा होने के बाद विद्यार्थियों को नामांकन और रोल नंबर दिए जाने हैं। इसके बाद इनके प्रवेश पत्र बनाए जाएँगे। अंत में इनके वितरण की व्यवस्था करनी होगी। ऐसे में परीक्षाएँ समय पर शुरू होना मुश्किल दिख रहा है।

अब तक 90 प्रतिशत तैयारी
परीक्षाओं की तैयारी पूरी है। 90 प्रतिशत काम निपट चुका है। प्रवेश पत्र, रोल लिस्ट और उपस्थिति पत्र समय से बन जाएँगे। इन्हें बंटवाने की व्यवस्था नोडल सेंटरों को सौंपी जा रही है। विद्यार्थियों को परेशान होने की जरूरत नहीं। परीक्षा की तिथि में कोई बदलाव नहीं होगा। बालजी यादव, डिप्टी रजिस्ट्रार अंबेडकर विवि।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विवि परीक्षाओं पर संकट के बादल