DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किराए के साथ यात्रियों को सुविधाएं भी मिलनी चाहिए

रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी द्वारा प्रस्तुत रेल बजट पर शहरवासियों ने मिलीजुली प्रतिक्रिया व्यक्त की है। कुल मिलाकर बजट को अच्छा बताया है, लेकिन यात्रियों के लिए सुविधाओं की भी मांग की गई है। सरस्वती महिला कॉलेज की प्राचार्या डॉ. अलका शर्मा का कहना है कि रेल बजट ठीक है, पिछले आठ वर्षो से किराए में बढ़ोत्तरी नहीं की गई थी। सुविधाओं के लिए इतना किराया बढ़ना तो लाजमी है।

वहीं दूसरी तरफ कॉलेज में राजनीति शास्त्र की लेक्चरर मीनाक्षी राघव का कहना है कि यदि किराया बढ़ाया है तो उसी हिसाब से सुविधाएं भी मिलनी चाहिएं। स्टेशन पर यात्रियों को पीने का पानी तक नसीब नहीं होता। रेलवे में जो खाने-पीने की चीजें खरीदी जाती हैं, वो घटिया क्वालिटी की होती हैं। फस्ट क्लास के यात्रियों के लिए किराया बढ़ाना तो सही है, लेकिन आम आदमी जो लोकल ट्रेन में सफर करता है, उनके किराए में बढ़ात्तरी ठीक नहीं है। वहीं प्लेटफार्म टिकट जो तीन रुपए से बढ़ाकर पांच रुपए किया गया है, वह सरासर गलत है। इसके अलावा भाजयुमो के जिला महामंत्री रोहित मित्तल ने रेल बजट पर रोष व्यक्त किया है। उनका कहना है कि जनता पहले ही महंगाई के बोझ से दबी हुई है, आम आदमी के हित में नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:किराए के साथ यात्रियों को सुविधाएं भी मिलनी चाहिए