DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विकसित होंगे कई प्रकार के पर्यटन सर्किट

बिहार के पर्यटन मंत्री सुनील कुमार पिंटू ने बुधवार को कहा कि पौराणिक, सांस्कृतिक और अन्य महत्व के प्रमुख स्थान पर्यटनस्थल परिपथ (सर्किट) के रूप में राज्य में विकसित होंगे और इसके लिए सलाहकार बहाल किये जा रहे हैं।

पिंटू ने विधानसभा में ध्यानाकर्षण प्रश्न के जवाब में कहा कि राज्य में रामायण, बौद्ध धर्म, सिख धर्म, महात्मा गांधी के स्थान, सूफी स्थल को चिह्नित कर उसे विकसित किया जा रहा है। इन संबद्ध पर्यटन स्थल को रामायण, बौद्ध, सिख, गांधी, सूफी सर्किट के रूप में विकसित किया जाएगा। शक्तिपीठ और इको टूरिज्म के पर्यटन को भी बढा़वा दिया जाएगा।

जदयू विधायक मंजीत सिंह ने अपने ध्यानाकर्षण प्रस्ताव में गया जिले के बाबा कोटेश्वरनाथ मंदिर का मामला उठाया और पर्यटनस्थल के रूप में विकसित करने की मंशा के बारे में सरकार से पूछा। सिंह ने सवाल किया कि क्या सरकार बाबा कोटेश्वर मंदिर में सावन के समय श्रावण महोत्सव कराना चाहती है। पर्यटन मंत्री ने कहा कि मैं अप्रैल महीने में बाबा कोटेश्वर नाथ मंदिर जाऊंगा और सारी संभावनाओं पर विचार किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विकसित होंगे कई प्रकार के पर्यटन सर्किट