DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विधान पार्षद क्षेत्र के जिलों की बैठक में होंगे शामिल

पटना(हि.ब्यू.)। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को विधान परिषद में कहा कि शिक्षक-स्नातक व स्थानीय निकायों से चुनकर आए विधान पार्षदों को अपने विधान परिषद क्षेत्र में पड़ने वाले सभी जिलों की विकास योजनाओं की बैठकों में भाग लेने का अधिकार होना चाहिए। हालांकि विधानसभा से चुनकर आए और मनोनीत सदस्यों का कोई निर्वाचन क्षेत्र नहीं होता लिहाजा उन्हें वैसे एक जिले को ऑप्ट करना चाहिए जहां के वे मतदाता हैं या फिर जहां रहते हों।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने इस बारे में दिशा-निर्देश दे दिया है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि राशि के मुद्दे पर अभी इसपर विचार विमर्श चल रहा है। नीरज कुमार, केदारनाथ पाण्डेय, महाचंद्र प्रसाद सिंह, संजीव श्याम सिंह, नरेन्द्र प्रसाद सिंह एवं वासुदेव सिंह ने ध्यानाकर्षण के माध्यम से विधान पार्षदों को उनके निर्वाचन क्षेत्र के सभी जिलों की विकास योजनाओं की बैठकों में आमंत्रित किए जाने का मामला उठाया था। साथ ही इसपर सरकार से वक्तव्य की मांग की थी। इसपर सभापति ताराकांत झा ने सदन में मौजूद मुख्यमंत्री का ध्यान इस प्रश्न की ओर आकृष्ट किया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विधान पार्षद क्षेत्र के जिलों की बैठक में होंगे शामिल