DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब साढ़े सात घंटे विद्यालय में रुकेंगे शिक्षक

मथुरा। निज संवाददाता पहले से ही शिक्षण कार्य के साथ ही अन्य विद्यालयी कार्य में लगे रहने वाले केन्द्रीय विद्यालयों के शिक्षकों को अतिरिक्त समय विद्यालय में देना होगा। मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा जारी आदेश पर आक्रोश जताते हुए शिक्षकों कहा कि वह पूरे समय शिक्षण कार्य में जुटे रहते हैं।

जब विद्यालय में बच्चों का शिक्षण समय पूर्ववत ही रहेगा तो शिक्षकों के साथ यह अन्याय क्यों किया जा रहा है। इसके विरोध में 16 मार्च को शिक्षक जंतर-मंतर पर धरना देंगे। सरकार का शिक्षा पर विशेष जोर है।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा केन्द्रीय विद्यालयों में शिक्षा अधिकार अधिनियम के तहत शिक्षकों के पहले विद्यालय समय छह घंटे दस मिनट को बढ़ा कर सात घंटे तीन मिनट कर दिया है।

हाल ही में जारी आदेश में स्पष्ट किया गया है कि अब केन्द्रीय विद्यालयों के शिक्षक एक अप्रैल से साढ़े सात घंटे विद्यालय में रुका करेंगे। इस दौरान वह बढ़ाये गये अतिरिक्त समय में बच्चों को दिये गये होम वर्क, क्लास वर्क का करेक्शन करने, अगले दिन बच्चों को पढ़ाने वाले विषय की प्लानिंग करें ताकि शिक्षण कार्य प्रभावी हो सके।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के आदेश की जानकारी होते ही शिक्षकों में आक्रोश भड़क उठा है। शिक्षकों का कहना है कि वह पहले से ही अपने शिक्षण कार्य के साथ ही बच्चों के होमवर्क आदि को पूरी निष्ठा से कराते आ रहे हैं।

कक्षाओं में बच्चों की संख्या भी अधिक होने के साथ ही अनेक विद्यालयी कार्य का बोझ उनके ऊपर होता है। वह उसे करते हैं। जब बच्चों का शिक्षण कार्य का समय नहीं बदला है तो शिक्षकों को पूर्व के करीब 80 मिनट अधिक समय विद्यालय में रुकने का आदेश अनुचित है।

इस बारे में आल इंडिया केन्द्रीय विद्यालय शिक्षक एसोसिएशन के केन्दीय कार्यसमिति सदस्य के पी गौतम ने बताया कि केन्द्रीय विद्यालय संगठन के अधिशासी मंडल द्वारा जारी आदेश शिक्षक विरोधी है,इससे देश-विदेश में संचालित 1100 केन्द्रीय विद्यालयों के करीब चालीस हजार शिक्षक-शिक्षिका प्रभावित हो रहे हैं।

इस आदेश का पुरजोर विरोध कर वापस कराया जायेगा। इसके विरोध में 16 मार्च को जंतर-मंतर नई दिल्ली पर देश भर के शिक्षक विशाल धरना प्रदर्शन कर सरकार को चेताते हुए केन्द्र सरकार को ज्ञापन सौंपेगें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब साढ़े सात घंटे विद्यालय में रुकेंगे शिक्षक