DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोकायुक्त जांच के दायरे में पूर्व विधायक

चन्दौली। आनन्द सिंह। समय बलवान है। चकिया के पूर्व बसपा विधायक जीतेन्द्र कुमार एडवोकेट के मामले में यह कथन अक्षरश: सच साबित हुई है। पांच साल में उनकी तकदीर कुछ ऐसी पलटी कि उन्हें न केवल विधानसभा चुनाव में हार का मुंह देखना पड़ा बल्कि उनके समय हुए कार्यो की लोकायुक्त जांच शुरू हो गयी है।

पिछले पांच साल में उन्होंने विधायक निधि से कुल 375 काम कराये। प्रत्येक काम के रिकार्ड खंगाले जायेंगे। इससे पूर्व विधायक के समर्थकों में अफरातफरी मची हुई है।नौगढ़ क्षेत्र के विशेश्वरपुर गांव निवासी श्यामलाल ने पूर्व बसपा विधायक जीतेन्द्र कुमार एडवोकेट पर कई गंभीर आरोप लगाये हैं।

उन्होंने लोकायुक्त के पास भेजे गये आवेदन में कहा है कि पिछले पांच साल में विकास कार्य के मुकाबले भ्रष्टाचार अधिक हुआ है। उनका आरोप है कि राबर्ट्सगंज, वाराणसी, इलाहाबाद व लखनऊ आदि शहरों में मकान और महंगी जमीन खरीद ली गयी।

नोएडा और गाजियाबाद में भी फ्लैट का जुगाड़ कर लिया गया। इसके अलावा चन्दौली जनपद के विभिन्न क्षेत्रों में भी जमीन सहित काफी अचल बनायी गयी है। श्यामलाल ने विधायक निधि में जमकर घोटाले का आरोप लगाया।

लोकायुक्त ने श्यामलाल के आवेदन को गंभीरता से लेते हुए पूर्व बसपा विधायक जीतेन्द्र कुमार एडवोकेट के खिलाफ जांच शुरू कर दी है। लोकायुक्त ने श्यामलाल को आरोपों के समर्थन में सबूत पेश करने के लिए कहा है। जिले में संभवत: पहली बार किसी पूर्व विधायक के खिलाफ लोकायुक्त की जांच शुरू हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लोकायुक्त जांच के दायरे में पूर्व विधायक