DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीआइडीसी के पास वेतन व बकाया के लिए पैसे नहीं

बिहार इंडस्ट्रीयल डेवलपमेंट कारपोरेशन के पास अपने कर्मचारियों के बकाया वेतन और अन्य भत्ते के भुगतान के लिए पैसे नहीं है। उसे अपने बिल्डिंग के किराए से 15 लाख रुपए मिलते हैं और वही उसकी कमाई का जरिया है। यह जानकारी कारपोरेशन के जीएम ने हाइकोर्ट को दी है। कोर्ट के आदेश को आलोक में जीएम ने शपथपत्र दाखिल किया है।

इस संबंध में कारपोरेशन के कर्मचारियों ने जनहित याचिका दायर की है। इसमें कहा गया है कि झारखंड में कारपोरेशन के हाइटेंशन इंस्युलेटर, इलेक्ट्रिकल इक्युपमेंट फैक्ट्री, एमसीआइएफ, स्वर्णरेखा वाच और बिहार सुपरफॉस्फेट सिंदरी की फैक्ट्री चलती थी।

फैक्ट्रियां बंद हो गयी है और कर्मचारियों को वेतन और बकाया राशि का भुगतान नहीं किया जा रहा है। कई कर्मचारी रिटायर कर गए हैं और कई की मृत्यु भी हो गयी है। पूर्व में सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कारपोरेशन को जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बीआइडीसी के पास वेतन व बकाया के लिए पैसे नहीं