DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंसुलिन उत्पादन पर फाइजर-बायोकॉन का करार टूटा

अमेरिकी दवा कंपनी फाइजर और भारतीय जैव प्रौद्योगिकी कंपनी बायोकॉन ने इंसुलिन तथा इंसुलिन एनालॉग उत्पादों की बिक्री के लिए 35 करोड़ डॉलर के वैश्विक गठजोड़ को खत्म करने की घोषणा की।

दोनों कंपनियों ने एक संयुक्त बयान में कहा कि बायोकॉन के इंसुलिन तथा इंसुलन एनालॉग उत्पादों के बायोसिमिलर संस्करणों की बिक्री के लिए किया गया गठबंधन खत्म करने पर दोनों कंपनियां सहमत हुई हैं। स्वतंत्र रूप से आगे बढ़ना दोनों कंपनियों के हित में है।

उल्लेखनीय है कि बायोकॉन द्वारा तैयार इंसुलिन तथा इंसुलिन एनालॉग उत्पादों के बायोसिमिलर संस्करणों की दुनियाभर में बिक्री करने के लिए दोनों कंपनियों ने अक्टूबर, 2010 में एक रणनीतिक गठजोड़ किया था।

बयान में कहा गया कि 12 मार्च, 2012 को फाइजर को दिए गए सभी अधिकार बायोकॉन के पास वापस आ जाएंगे और यूनीविया टीएम और ग्लैरविया टीएम ब्रांड नाम से सभी इंसुलिन व्यावसायिक बिक्री के लिए केवल बायोकान की ओर से उपलब्ध कराए जाएंगे और विनिर्माण, आपूर्ति, विपणन आदि केवल बायोकान द्वारा किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इंसुलिन उत्पादन पर फाइजर-बायोकॉन का करार टूटा