DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बहुगुणा को CM बनाने पर रावत समर्थकों ने जताया विरोध

उत्तराखंड कांग्रेस में गुटबाजी उस समय खुलकर सामने आ गई जब विजय बहुगुणा को मुख्यमंत्री नामित किए जाने का केंद्रीय संसदीय कार्य राज्य मंत्री हरीश रावत के समर्थक विधायकों ने विरोध शुरू कर दिया। हालांकि, रावत ने पार्टी में किसी तरह की फूट से इंकार किया है।  
   
कल रात रावत के आवास पर एकजुट हुए उनके समर्थक नारेबाजी करते हुए यह जानना चाह रहे थे कि मुख्यमंत्री पद के लिए आखिर उनके नेता की अनदेखी क्यों की गई। रावत समर्थकों ने उन्हें पार्टी विभाजित करने के लिए भी उकसाया। बैठक से बाहर निकलने के बाद रावत ने बताया मैं हमेशा-हमेशा से कांग्रेसी रहा हूं।
   
रावत को शांत करने के लिए मुख्यमंत्री नामित किए गए विजय बहुगुणा और उनकी बहन एवं उत्तर प्रदेश कांग्रेस की प्रमुख रीता बहुगुणा जोशी ने उनके आवास पर उनसे मुलाकात की। बैठक में विजय बहुगुणा और रीता बहुगुणा से क्या बात हुई, यह पूछे जाने पर रावत ने कहा वह एक हारे हुए शख्स को सांत्वना देने आए थे।
   
रावत को कितने विधायकों का समर्थन हासिल है, इस सवाल का जवाब देते वक्त केन्द्रीय मंत्री ने संख्या गिनाने से इंकार करते हुए सिर्फ इतना कहा वे सभी सोनिया गांधी के विधायक हैं। वे मुझे सांत्वना देने आए थे और मैंने भी उन्हें समझाया। मैं एक हारा हुआ शख्स हूं।
   
भविष्य के कदम के बारे में रावत ने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया। यह पूछे जाने पर कि क्या वह बहुगुणा के शपथ-ग्रहण समारोह में शिरकत करेंगे, रावत ने कहा मेरा गला खराब है और मेरी तबीयत भी ठीक नहीं है। देखिए क्या होता है।
   
इन अफवाहों के बारे में पूछे जाने पर कि उन्होंने केंद्रीय राज्य मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है, रावत ने हैरत जताते हुए कहा यह तो मेरे लिए खबर है। सूत्रों ने बताया कि रावत के प्रति अपना समर्थन जाहिर करने वाले 18 विधायक कल देर रात तक उनसे बातचीत कर रहे थे।
   
गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पार्टी सांसदों और विधायकों की राय जानने के बाद कल विजय बहुगुणा को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पद के लिए नामित किया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बहुगुणा को CM बनाने पर रावत समर्थकों ने जताया विरोध