DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीबीआई जांच न होने पर कोर्ट जाएंगे नरेंद्र के परिजन

मध्य प्रदेश में खनन माफियाओं के शिकार आईपीएस नरेन्द्र कुमार की अस्थियां रविवार को गमगीन माहौल में नरौरा के गांधी घाट पर उनके पिता केशव देव ने रिश्तेदारों के साथ पहुंचकर विसजिर्त कीं। इस दौरान उन्होंने मध्य प्रदेश सरकार की जांच की घोषणा से असंतुष्टि जताई और पूरे प्रकरण की सीबीआई जांच की मांग रखी।

उन्होंने स्पष्ट कहा कि खनन माफियाओं को सरकार का संरक्षण मिला हुआ है। अगर जल्द ही सीबीआई जांच शुरू नहीं कराई गई तो वह कोर्ट की मदद लेंगे। रविवार को आईपीएस नरेन्द्र कुमार के पिता केशव देव संबंधियों के साथ अलीगढ़ से नरौरा गंगा घाट पर अस्थियों के साथ पहुंचे।

अस्थि विसर्जन के बाद मध्य प्रदेश सरकार के रवैये से क्षुब्ध पिता केशव देव ने कहा कि क्या जांच चल रही है उसके बारे में उन्हें कुछ पता नही है। उन्हें अभी तक एफआईआर की कॉपी भी नहीं मिली है। केशव देव ने कहा कि मप्र के मुख्यमंत्री ने टेलीफोन के माध्यम से मदद का आश्वासन दिया था। 24 घंटे तक मीडिया से मिलने को रोका गया।

सरकार के बयानों में बेटे की मौत को सामान्य दुर्घटना बताना ठीक नहीं है। यह सामान्य दुर्घटना नहीं है। हत्या का षड्यंत्र है। चार दिन बीतने के बाद भी दोषियों के खिलाफ कोई कार्रवाई भी नही की गई है।

उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश सरकार ने जांच के आदेश दिए हैं, जिससे वह कतई संतुष्ट नहीं हैं। हमने मध्य प्रदेश सरकार को हीरा दिया था, लेकिन सरकार ने हमें कूड़े का टोकरा दिया है। नरेंद्र हत्याकांड की जब तक सीबीआई से जॉंच नहीं कराई जाएगी। तब तक वे चुप नहीं बैठेंगे।

उन्होंने कहा कि खनन माफियाओं को सरकार का संरक्षण मिला हुआ है। सीबीआई की जांच नहीं होने तक वे किसी भी हद तक जाएंगें। चाहे उन्हें हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट तक गुहार लगानी पड़े।

इससे पहले नरौरा के गांधी घाट पर दोपहर में शहीद आईपीएस नरेन्द्र कुमार की अस्थियों को लेकर पहुंचे पिता केशव देव के साथ शहीद आईपीएस नरेन्द्र कुमार के चाचा खान चंद, बहनोई महेन्द्र सिंह, गजेन्द्र सिंह, भगत सिंह, विजय सिंह के अलावा आईएएस पत्नी मधुरानी के पिता स्वदेशपाल सिंह, भाई अमित व चाचा राजू एवं केशव देव के मित्र डा़ राजेश्वर सिंह आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीबीआई जांच न होने पर कोर्ट जाएंगे नरेंद्र के परिजन