DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नसीमुद्दीन की सीबीआई जांच की फिर सिफारिश करेंगे लोकायुक्त

बसपा सरकार में सबसे कद्दावर मंत्री रहे नसीमुद्दीन सिद्दीकी, उनकी एमएलसी पत्नी हुस्ना सिद्दीकी और परिवार के सदस्यों की सम्पत्तियों की सीबीआई या प्रवर्तन निदेशालय से जांच कराने की सिफारिश को नकारने के बसपा सरकार के फैसले के खिलाफ लोकायुक्त न्यायमूर्ति एनके मेहरोत्र ने नई रिपोर्ट तैयार कर ली है।

नई सरकार के मुख्यमंत्री के शपथ लेते ही यह रिपोर्ट कार्रवाई के लिए उन्हें भेजे जाने के आसार है। दूसरी तरफ नसीमुद्दीन और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ अकूत सम्पत्ति अजिर्त करने की एक और शिकायत सोमवार को लोकायुक्त के यहां पहुंच गई है।

लखनऊ निवासी जगदीश नारायण शुक्ला की शिकायत पर जांच के बाद लोकायुक्त न्यायमूर्ति एनके मेहरोत्र ने नसीमुददीन सिद्दीकी और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ 929 पेज की जांच रिपोर्ट तत्कालीन मुख्यमंत्री मायावती को भेजी थी। जिस पर मायावती सरकार ने लोकायुक्त के अधिकारों पर ही सवाल उठाते हुए पत्र लिखा था कि वे मंत्री की जांच कर ही नहीं सकते।

लोकायुक्त ने उस पत्र का जवाब व नसीमुद्दीन सिद्दीकी और उनके परिवार पर लगे  आरोपों की जांच सीबीआई या प्रवर्तन निदेशालय से कराने के अपने पुराने फैसले पर पुनर्विचार के लिए नई सरकार के मुखिया को भेजने के लिए रिपोर्ट पूरी कर ली है।

सूत्रों का कहना है कि इस सिफारिश में नसीमुद्दीन के खिलाफ चल रही पुरानी चार शिकायतों के साथ सोमवार को इलाहाबाद निवासी शशिकांत मौर्य की ओर से दाखिल की गई शिकायत को भी जोड़ दिया है। लोकायुक्त का कहना है कि नए मुख्यमंत्री के शपथ लेते ही रिपोर्ट भेजी जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नसीमुद्दीन की सीबीआई जांच की फिर सिफारिश करेंगे लोकायुक्त