DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहर की शांत फिजा में आग लगाने की कोशिश

शहर की शांत फिजा को खराब करने के लिए रविवार-सोमवार की रात किसी ने शिव परिवार व हनुमान जी की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त कर दिया। भोर होने पर लोगों को जानकारी हुई तो वह रामलीला ग्राउंड में एकत्र हो गए। जानकारी होते ही पुलिसकर्मी भी वहां पहुंच गए।

उन्होंने भड़के हुए लोगों को शांत कराया। लोगों ने मामले की जांच कराकर दोषी को सजा दिलाने की मांग की है, वहीं पुलिस ने इसे सिरफिरे की हिमाकत बताया है। रामलीला ग्राउंड स्थित परशुराम शिविर के समीप पीपल के वृक्ष के नीचे शिव परिवार व हनुमान जी की मूर्ति स्थापित है।

लंबे समय से हिन्दू धर्मावलंबी प्राचीन मूर्तियों की आराधना करते आ रहे हैं। रामलीला ग्राउंड में आयोजित होने वाले धार्मिक कार्यक्रमों के साथ ही रामलीला व श्रीमद्भागवत के समय इसकी महत्ता और बढ़ जाती है। इसी स्थल पर भगवान परशुराम की नगर में निकाली जाने वाली शोभायात्रा का समापन किया जाता है।

रविवार-सोमवार की रात शिव परिवार में से पार्वती व कार्तिकेय की प्रतिमा को किसी ने क्षतिग्रस्त कर दिया। इसके साथ ही हनुमान जी व भगवान गणेश की प्रतिमा को भी क्षति पहुंचाई। सोमवार सुबह मंदिर में शीतला माता की पूजा-अर्चना करने पहुंची महिलाओं को सबसे पहले प्रतिमाएं क्षतिग्रस्त किए जाने की जानकारी मिली। देखते ही देखते पूरे शहर में यह खबर फैल गई। ब्राह्मण महासभा के पदाधिकारी भी वहां पहुंच गए।

जानकारी मिलते ही पुलिस भी पहुंच गई। पुलिस ने लोगों को शांत कराया। ब्राrाण महासभा के जिलाध्यक्ष रवींद्र लाल तिवारी, सियाराम शर्मा, महामंत्री राकेश शर्मा, उमेश शर्मा, श्रीगोपाल, अशोक गर्ग, लकी गर्ग, सुरेंद्र उपाध्याय, राममोहन शर्मा, अतुल उपाध्याय ने घटना की निंदा करते हुए पुलिस व प्रशासन से दुष्कृत्य करने वाले आरोपी का पता लगाकर कठोर से कठोर दंड दिलाने की मांग की है।

वहीं लोगों से उन्होंने शहर में शांत व्यवस्था बनाए रखने की मांग की है। वहीं पुलिस का यही मानना है कि किसी सिरफिरे ने उक्त घटना को अंजाम दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शहर की शांत फिजा में आग लगाने की कोशिश