DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

क्रिकेट पर फिर कीचड़

क्या वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के साथ हुआ हमारा सेमीफाइनल मैच फिक्स था? ब्रिटेन के अखबार ‘द संडे टाइम्स’ की मानें तो कुछ ऐसा ही था। साथ ही इसमें बॉलीवुड की एक हीरोइन का भी नाम आ रहा है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने इन आरोपों की उच्चस्तरीय जांच कराने का फैसला किया है।

एक बार फिर भारत में सक्रिय सट्टेबाजों के नेटवर्क की बात सामने आई है। गौरतलब है कि दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी हंसी क्रोनिए भारत में खेले जा रहे सीरीज के दौरान सट्टेबाज से बात करने के चक्कर में फंसे थे।

ब्रिटिश अखबार का दावा है कि भारत और पाकिस्तान के बीच पिछले साल मोहाली में खेला गया विश्व कप सेमीफाइनल मैच भारतीय सट्टेबाजों ने फिक्स कर रखा था। अखबार ने अपनी जांच के बाद यह दावा किया।

अखबार ने कहा कि उसका अंडरकवर संवाददाता एक प्रभावशाली भारतीय सट्टेबाज से मिला था जिसका दावा था कि वह टेस्ट मैच और इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) तथा बांग्लादेश प्रीमियर लीग (बीपीएल) के अलावा इंग्लैंड में काउंटी मैचों तक को फिक्स कर सकता है। अखबार ने जांच में बताया है कि सट्टेबाज हजारों पाउंड की पेशकश खिलाड़ियों को करते हैं।

बल्लेबाजों को धीमी स्कोरिंग के लिए लगभग 44 हजार पाउंड, गेंदबाजों को रन लुटाने के लिए 50 हजार पाउंड और किसी खिलाड़ी या अधिकारी के मैच के परिणाम की गारंटी लेने के लिए सात लाख 50 हजार पाउंड तक दिए जाते हैं। अंडरकवर संवाददाता से बातचीत में सट्टेबाजों ने दावा किया कि वे बॉलीवुड की एक अभिनेत्री के जरिये इंग्लैंड, न्यूजीलैंड, वेस्टइंडीज, पाकिस्तान, भारत और बांग्लादेश के खिलाड़ियों को फांसते हैं।

अखबार के मुताबिक दिल्ली के एक सट्टेबाज ने उससे कहा कि काउंटी क्रिकेट एक अच्छा बाजार है क्योंकि यहां लो प्रोफाइल मैच होते हैं और इन पर कोई ज्यादा नजर भी नहीं रखता। ये मैच बिना जोखिम पैसा कमाने का अच्छा जरिया है। अखबार ने जो भी सूचनाएं एकत्र कीं उन्हें आईसीसी को दे दिया है जिसने कहा कि वह इन आरोपों की जांच करेगी।

आईसीसी प्रवक्ता ने कहा कि हम आपके आभारी हैं और इन गंभीर आरोपों की जल्द जांच करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रत्येक मैच पर कई-कई लाखों डॉलर सट्टे में लगाए जाते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:क्रिकेट पर फिर कीचड़