DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

द्रविड़ ने विकेट की अहमियत सिखाई: रोहित शर्मा

भारत की अगली पीढ़ी के बल्लेबाज रोहित शर्मा और चेतेश्वर पुजारा ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने वाले राहुल द्रविड़ की तारीफ करते हुए कहा कि वे उनके सकारात्मक रवैये, स्वभाव और विनम्रता को अपनाना चाहेंगे।

भारत के लिए 77 वनडे में 1889 रन बना चुके रोहित ने कहा कि मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा है। सबसे बड़ी बात अपने विकेट की अहमियत समझना है। उन्होंने कहा कि दूसरी बात उनसे यह सीखी है कि किसी भी हालत में जुझारूपन नहीं छोड़ना है। दबाव को महसूस करके अच्छा खेलना है जो अच्छे बल्लेबाज की निशानी है। हमने उनसे यह सीखा है।

प्रतिभाशाली बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे ने कहा कि उन्होंने सिखाया कि आपका विकेट कितना अहम है और इसकी हमेशा कद्र करनी है। वह मैदान के भीतर और बाहर हमेशा विनम्र रहे जो काबिले तारीफ है। उन्होंने कहा कि मैंने दक्षिण क्षेत्र के खिलाफ 2008-09 में दलीप ट्राफी फाइनल में 165 और 98 रन बनाए थे। मैं अपनी बल्लेबाजी को लेकर चिंतित था लेकिन इतने बड़े खिलाड़ी से बात करने में डर रहा था। वह खुद मेरे पास आए और कहा कि मैं अच्छा खेल रहा हूं और ऐसे ही खेलते रहने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि उन्होंने मुझे अपनी बल्लेबाजी पर विश्वास रखने की सलाह दी। मैं उनको देखकर क्रिकेट खेलना सीखा और उनका मुझ पर यूं भरोसा जताना बहुत बड़ी बात थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:द्रविड़ ने विकेट की अहमियत सिखाई: रोहित शर्मा