DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुष्कर्म करने के आरोप में युवक को 10 साल की जेल

पांच महीने की एक बच्ची के साथ दुष्कर्म के एक जघन्य मामले में अदालत ने 18 वर्षीय एक युवक को 10 साल जेल की सजा सुनाई। अदालत ने इसे जघन्य और अमानवीय कृत्य करार दिया। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश (एसीजे) कामिनी लाउ ने कहा कि पांच माह की बच्ची से इस तरह का कृत्य छोटे बच्चों के यौन शोषण के बढ़ते खतरों का एक स्पष्ट उदाहरण है। 
    
बच्ची के साथ दुष्कर्म करने के आरोप में अदालत ने उत्तर-पश्चिम दिल्ली निवासी सोनू को जेल की सजा सुनाई। बच्ची के साथ सोनू का दूर का रिश्ता भी था। अदालत ने कहा कि पांच महीने की होने के कारण बच्ची इस मामले में एक आसान और कमजोर निशाना बनी। सोनू ने मजबूर और निस्सहाय बच्ची का फायदा उठाया जो न न तो भाग सकती थी और न कुछ कह सकती थी और एक आसान और कमजोर शिकार थी।
     
उन्होंने कहा कि जब इस अपराध को अंजाम दिया गया उसे असहनीय शारीरिक पीड़ा और कष्ट हुआ होगा। बच्ची की छोटी उम्र के बावजूद दोषी ने घणित, अमानवीय, क्रूर कृत्य किया। इससे उसके परिवार को जीवन भर के लिए चोट पहुंची। अदालत ने 10,000 रुपए का जुर्माना भी लगाया और कहा कि यह राशि बच्ची की मां को दी जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:किया दुष्कर्म, युवक को 10 साल की जेल