DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैदियों का रिकार्ड खंगालेगी रोहतक पुलिस

झज्जर के पास बदमाशों व पुलिस के मुठभेड़ में तीन कैदियों की हुई मौत मामले में रोहतक पुलिस ने भोंडसी जेल प्रशासन से संपर्क किया है। आईजी रोहतक ने एक टीम को जेल भेज दिया है। टीम भोंडसी जेल में बंद कैदियों के बारे में पूरा ब्योरा इकठ्ठा करेगी। आईजी रोहतक आलोक मित्तल ने कहा कि टीम बंद के दौरान कैदियों से मिलने वालों को रिकार्ड की जांच करेगी।

गौरतलब है कि दो दर्जन कार सवार बदमाशों ने झज्जर के पास पुलिस बस पर शनिवार को हमला बोल दिया था। इस हमले में तीन  कैदियों की हत्या कर दी गई। इसमें दो अन्य कैदियों समेत दो पुलिस कर्मी घायल हो गए। ये कैदी आधा दर्जन से अधिक हत्या के मामलों में भोंडसी जेल में बंद थे। इसमें रोहतक के गांव चिड़ी निवासी अनिल कुमार, श्री भगवान और दिलबाग समेत रणवीर व नसीम भौंडसी जेल में बंद थे। रोहतक पेशी के बाद जब वह गुड़गांव लाए जा रहे थे। इसी वक्त झज्जर-गुड़गांव रोड पर चार कारों ने वैन को चारों तरफ से घेर लिया। बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। फायरिंग के जबाब में वैन में सवार पुलिस कर्मियों ने जबावी हमला बोल दिया। दोनों तरफ से ताबड़ तोड़ फायरिंग शुरू हो गई। इसमें अनिल उर्फ फौजी, दिलबाग व श्रीभगवान की मौत हो गई हैं। जबकि वैन में अपराधी नसीब पुत्र दो आबखान निवासी तावड़ू, रणवीर पुत्र जिले सिंह निवासी लाड़ौत, रोहतक पुलिस में हेड कांस्टेबल विनोद पुत्र बलवान सिंह निवासी खरमाण, सिपाही विवेक निवासी रोहतक गंभीर रुप से घायल हो गए थे।

गौरतलब है कि पांचों कैदी की सुरक्षा में दो पुलिस कर्मियों की तैनाती की गई थी। इनके गैंग में रोहतक, झज्जर समेत हरियाणा के अन्य जिलों के अपराधी शामिल थे। इस गोलीबारी में कैदी रणवीर व नसीम सहित दो पुलिस कर्मियों को गोलियों के र्छे लगे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कैदियों का रिकार्ड खंगालेगी रोहतक पुलिस