DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विपक्षी सदस्य सदन से निष्कासित, अजय के विरूद्ध निंदा प्रस्ताव

हरियाणा में जारी जाट आंदोलन को लेकर राज्य विधानसभा में शुक्रवारको सत्ता और विपक्ष के बीच गरमागरम बहस और तीखी नोंक झोंक हुई जिसके चलते जहां पीठासीन अध्यक्ष ने अनेक विपक्षी सदस्यों को सदन से निष्कासित कर दिया वहीं सदन ने इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) सदस्य अजय चौटाला के विरूद्ध जाट आंदोलनकारियों को कथित तौर पर भड़काने को लेकर निंदा प्रस्ताव भी पारित किया गया।

शून्यकाल शुरू होते ही विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप शर्मा ने जैसे ही कांग्रेस सदस्य सम्पत सिंह को सड़क दुर्घटनाओं के सम्बंध में अपना ध्यानाकर्षण प्रस्ताव पढ़ने को कहा तो इनेलो सदस्यों और भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) विधायक दल के नेता अनिल सहित पार्टी के सदस्यों ने सीटों पर खड़े होकर हिसार में चल रहे जांट आंदोलन पर चर्चा कराने की मांग की।

उधर सत्तापक्ष के भी अनेक सदस्य अपनी सीटों से विपक्ष पर निशाने साधे। संसदीय कार्यमंत्री रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि जाट आंदोलन में इनेलो नेताओं का हाथ है और वह राज्य में जातिगत दंगे फैलाने, शांति भंग करने तथा माहौल बिगाड़ने का काम कर रहा है।

सदन में हंगामे के बीच सहकारिता मंत्री सतपाल सांगवान ने आरोप लगाया कि इनेलों के एक सदस्य ने स्वयं यह स्वीकार किया है कि उसने हिसार में फायरिंग में मारे गए युवक के संबधी से उसका दाह संस्कार नहीं करने को कहा है। शोर शराबे के बीच सुरजेवाला ने अध्यक्ष से आग्रह किया कि सांगवान ने कुछ महत्वपूर्ण बात कही है जिसे सुना जाना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विपक्षी सदस्य सदन से निष्कासित, अजय के विरूद्ध निंदा प्रस्ताव