DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुरेदना तो पड़ेगा

दो साल की मासूम फलक जिंदगी की जंग लगभग जीत चुकी है। दो माह तक घावों से जूझने के बाद इस मासूम को अगले सप्ताह अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी। इंसानी दरिंदगी की यह दास्तां दिल्ली से शुरू हुई। लेकिन तार जुड़े कई राज्यों से। और खुला देह व्यापार का खौफनाक सच। हर जुर्म एक सबक दे जाता है। गोद में बच्चा, साथ में महिला। अजनबी चेहरों की मासूमियत के इसी चोले को पहचानना जरूरी है। बात ताकझांक करने की नहीं है। आतंकवाद से अनाचार तक। खतरनाक इरादे तो भांपने ही पड़ेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कुरेदना तो पड़ेगा