DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांग्रेस अध्यक्ष पर समीक्षा बैठक बुलाने का दबाव

शहर अध्यक्ष महेश दीक्षित पर अब समीक्षा बैठक बुलाने का दबाव है, श्रीप्रकाश विरोधी समीक्षा के बहाने उनके खिलाफ मोर्चा खोलने की तैयारी में हैं। शहर अध्यक्ष ने गंगा मेला के बाद चुनाव की समीक्षा के लिए बैठक बुलाने को कहा है, टिकट न मिलने का दर्द उनको भी है।


विधानसभा चुनाव परिणाम श्रीप्रकाश के लिए कई मायने में मुसीबत खड़ी करने वाले साबित होंगे। जिन करीबियों को टिकट दिलाया वे हार गए और जो करीबी जीतने का दावा कर रहे थे उनको टिकट नहीं मिला। वे श्रीप्रकाश से नाराज हैं, इनमें से कई ने तो बगावत करके असंतुष्टों का अलग गुट बना लिया। चुनाव के दौरान ही असंतुष्टों ने मोर्चा खोल दिया था, लेकिन तब उनको पार्टी विरोधी बता कर कार्रवाई की चेतावनी दी गई तो थोड़ा शान्त हो गए और अजय कपूर के खेमे में शामिल हो गए। इसमें शहर अध्यक्ष के भाई मनेश दीक्षित भी थे, वह महेश दीक्षित के लिए टिकट चाहते थे।

अब कांग्रेस के बुरी तरह परास्त होने के बाद विरोधियों को फिर एक मौका मिल गया है, उन्होंने शहर अध्यक्ष को समीक्षा के लिए बैठक बुलाने के साथ उन नेताओं के खिलाफ हाईकमान को लिखने को भी कहा है जिनके गलत टिकटों की पैरवी के कारण कांग्रेस की यह हालत हुई। जाहिर है श्रीप्रकाश उनके निशाने पर हैं, महेश दीक्षित को शहर अध्यक्षी की कुर्सी भले श्रीप्रकाश ने दिलवायी हो पर टिकट न मिलने से आहत वह भी हैं। ऐसे में समीक्षा के लिए बैठक बुलायी गई तो जाहिर है श्रीप्रकाश के खिलाफ ही जहर उगला जाएगा। पवन गुप्ता, धनीराव पैंथर, मनेश के अलावा पूर्व विधायक भूधर नारायण मिश्र, ऊषा रत्नाकर शुक्ला, कालिन्द्री तिवारी, राकेश शुक्ला, उमाशंकर मिश्र समेत कई नेताओं ने चुनाव की तरह फिर से श्रीप्रकाश के खिलाफ मोर्चा खोलने की रणनीति तैयार कर ली है। इस बार इनके निशाने पर सांसद राजाराम पाल भी होंगे। इन नेताओं का कहना है कि दोनों ने गलत टिकट दिलवाए और एक-दूसरे के प्रत्याशियों को हराते भी रहे जिससे कांग्रेस की यह हालत हुई। शहर अध्यक्ष से चुनाव में करारी हार के बारे में पूछते हैं तो कहते है कि उनके पास तो कमेटी ही नहीं थी। उन्होंने जो कमेटी चुनाव से करीब एक माह पहले भेजी थी उसको हरी झंडी नहीं मिली। पुरानी कमेटी में जो लोग काम करना चाहते थे उन्हीं से मदद ली गई। उन्होंने कहा गंगा मेला के बाद वह हार की समीक्षा के लिए तिलक हाल में खुली बैठक बुलाएंगे ताकि सही कारण सामने आएं और उनको ठीक किया जा सके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कांग्रेस अध्यक्ष पर समीक्षा बैठक बुलाने का दबाव