DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

परिवार कल्याण प्रमुख सचिव प्रदीप शुक्ला से पूछताछ

एनआरएचएम घोटाले में सीबीआई की गिरफ्त में चल रहे पूर्व मंत्री बाबू सिंह कुशवाहा ने घोटाले के जुड़े महत्वपूर्ण लोगों के बारे में राज उगलना शुरू कर दिया है। इसी क्रम में परिवार कल्याण प्रमुख सचिव प्रदीप शुक्ला को पूछताछ के लिए सीबीआई मुख्यालय बुलाया गया।

पूर्व मंत्री बाबू सिंह कुशवाहा तथा पूर्व विधायक राम प्रसाद जायसवाल 13 मार्च तक सीबीआई की हिरासत में हैं। सूत्रों का कहना है कि पूछताछ दोनों ही नेताओं से की जा रही है, लेकिन इस समय पूछताछ का पूरा फोकस बाबू सिंह कुशवाहा पर है। अब तक की पूछताछ में कुशवाहा ने घोटाले से जुड़ी कई महत्वपूर्ण जानकारी जांच अधिकारियों को दी हैं। उनसे मुरादाबाद की फर्म जिसे 13 करोड़ रुपये की पब्लिसिटी का ठेका दिया गया था उसके बारे में पूछा गया। इस फर्म को होर्डिग, फ्लेक्स बैनर तथा साइनिज का ठेके दिए गए थे। इसमें सरकार को आठ करोड़ रुपये का चूना लगाया गया। सूत्रों का यह भी कहना है कि मोबाइल वेन घोटाले के संबंध में जल्द ही नई प्राथमिकी दर्ज की जा सकती है, लेकिन कुछ जानकारियां ऐसी हैं जिनके बारे में अभी शेयर करना ठीक नहीं है।

कुशवाहा से अभय वाजपेयी के रिश्तेदार की फर्म को अस्पतालों में सिलेंडर सप्लाई घपले के बारे में भी पूछताछ की गई। इस सिलसिले में सीबीआई अधिकारियों ने यूपी परिवार कल्याण के प्रमुख सचिव प्रदीप शुक्ला को बुधवार को पूछताछ के लिए दिल्ली बुलाया था। हालांकि शुक्ला पहले सीबीआई के समक्ष यह बात कह चुके हैं कि वह घोटाले की पूछताछ में पूरा सहयोग देंगे। याद रहे कि एनआरएचएम घोटाले में अब तक 12 मामले दर्ज किए जा चुके हैं, मामले की पांच प्रारंभिक जांच (पीई) अभी बंद नहीं की गई हैं। सीबीआई के एक अधिकारी का कहना है एफआईआर की संख्या 20 से अधिक हो सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:परिवार कल्याण प्रमुख सचिव प्रदीप शुक्ला से पूछताछ