DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीएम के सस्पेंस से शनिवार को हटेगा पर्दा

उत्तर प्रदेश का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा, मुलायम सिंह यादव या अखिलेश यादव इस सस्पेंस से शनिवार को पर्दा उठ जाएगा। सपा विधानमंडल दल की पहली बैठक में यह तय होना है कि अंतिम रूप से किसका नाम तय होना है। बैठक में सपा के लोकसभा, राज्यसभा व विधानपरिषद के सदस्य भी मौजूद रहेंगे।

 पार्टी का एक बड़ा तबका, जिनमें युवा विधायक भी शामिल हैं, चाहते हैं कि अखिलेश यादव  ही मुख्यमंत्री बनें। उनका कहना है कि सपा को मिला शानदार जनादेश अखिलेश यादव की वजह से है, लिहाजा वे ही स्वाभाविक पसंद हैं। वहीं एक पक्ष, जिसमें वरिष्ठ नेताओं की संख्या ज्यादा है, वे इस राय के हैं कि फिलहाल मुलायम ही कुर्सी संभालें। तर्क यह कि अखिलेश संगठन के काम में जुटे रहें और साथ ही सरकार के काम-काज को करीब से देखते हुए अनुभव बटोरें फिर कुर्सी संभालें। पार्टी जनादेश के साथ जाती है या परिस्थितियां नया मुख्यमंत्री तय करेंगी यह देखना दिलचस्प होगा। उतना ही रोचक यह देखना भी होगा कि   शनिवार की बैठक में अंतिम फैसला आम राय से होगा, सबकी बात सुनने के बाद मुलायम सिंह यादव अपना निर्णय सुनाएंगे या किन्हीं परिस्थतियों में चुनाव के हालात बनेंगे।

    शुक्रवार को मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव, शिवपाल सिंह यादव काफी देर तक पार्टी मुख्यालय में बैठे। आपस में चर्चाओं के दौर के बीच में ही अखिलेश यादव ने प्रेस कांफ्रेंस की जिसमें अगला मुख्यमंत्री कौन के जवाब में उन्होंने कहा कि कल चुनाव होना है और सब सामने होगा। दूसरी ओर मीडिया के सवाल के जवाब में शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ही होंगे और इसमें कोई दो राय नहीं। वहीं सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने इस सवाल के जवाब में कहा कि कल बैठक है और उसमें विधायक तय करेंगे कि कौन होगा मुख्यमंत्री। अगला मुख्यमंत्री तय होने के मामले में राय रखने के मामले में एक अहम फैक्टर बनकर उभरे आजम खां आज पूरे दिन लखनऊ में थे लेकिन वे सपा मुख्यालय नहीं आए। इसे लेकर भी कई तरह के कयास लगते रहे। उन्होंने अगला मुख्यमंत्री कौन से जुड़े मीडिया के सवालों का भी कोई जवाब देने से इनकार किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीएम के सस्पेंस से शनिवार को हटेगा पर्दा