DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हाईकोर्ट ने किया दहेज उत्पीड़न मामला रद्द

दिल्ली हाईकोर्ट ने एक व्यक्ति के खिलाफ कथित दहेज उत्पीड़न मामले में दर्ज प्राथमिकी को रद्द कर दिया है। अपनी पूर्व पत्नी को अंतिम सुलह के तहत 11 लाख रुपए का भुगतान देने पर सहमत होने के बाद अदालत ने प्राथमिकी रद्द की। साथ ही उस पर एक लाख रुपए का जुर्माना भी किया।

न्यायमूर्ति सुरेश कैट ने अदालत का बहुमूल्य वक्त जाया करने के लिए उसे एक लाख रुपए भी अदा करने को कहा। करीब दो वर्ष पहले उसकी पत्नी ने उसके और उसके परिवार के लोगों के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कराया था।

न्यायाधीश ने कहा, मैं उन्हें निर्देश देता हूं कि दिल्ली हाईकोर्ट कानूनी सेवाएं समिति के पास आज से चार हफ्ते के अंदर एक लाख रुपए जमा करवाएं। इसके सबूत रिकार्ड में लिए जाएं। आग्रह के मुताबिक मैं उनके परिवार के सदस्यों पर जुर्माना नहीं लगा रहा हूं।

अदालत को व्यक्ति ने हलफनामा देकर कहा कि पत्नी के साथ विवाद सौहार्द्रपूर्ण तरीके से सुलझा लिया गया है और उसके दावों के मुताबिक वह स्वयं सवा 11 लाख रुपए भुगतान करने को सहमत हो गया है। इसके बाद अदालत ने उसके खिलाफ दर्ज प्राथमिकी रद्द कर दी।

महिला भी मामला बंद करने पर सहमत हो गई और उसने कहा कि मामले से संबंधित सारे मुद्दों का हल हो गया है और मामले को अब आगे नहीं बढ़ाना चाहती। उसके वकील ने कहा कि अगर प्राथमिकी रद्द होती है तो उसे कोई आपत्ति नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हाईकोर्ट ने किया दहेज उत्पीड़न मामला रद्द