DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

योजनाबद्ध नहीं आईपीएस अफसर की हत्याः डीआईजी

मुरैना जिले के बामौर में युवा आईपीएस अधिकारी नरेन्द्र कुमार की खनिज माफिया द्वारा की गयी हत्या को जघन्य हत्याकांड बताते हुए चंबल रेंज के पुलिस उपमहानिरीक्षक डीपी गुप्ता ने इन संभावनाओं को गलत बताया कि यह हत्याकांड माफिया द्वारा योजनबद्ध ढंग से कराया गया था।

गुप्ता ने संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कहा कि अभी तक हमे इस बात का कोई सबूत नहीं मिला है कि युवा आईपीएस अधिकारी की योजनाबद्ध ढंग से हत्या की गयी है। गुप्ता ने कहा कि जिस ट्रेक्टर ट्रॉली से कुचलकर नरेन्द्र कुमार की हत्या की गयी, चालक मनोज गुर्जर के पास से कोई मोबाइल नहीं मिला है।

उपमहानिरीक्षक ने कहा कि इसके बावजूद पुलिस इस बात की भी जांच कर रही है कि मनोज गुर्जर के पास कोई मोबाइल हो सकता है, जिस पर उसे नरेन्द्र कुमार को मारने के निर्देश मिले हों। उन्होने कहा कि पुलिस द्वारा अवैध खनिज उत्खनन के खिलाफ अभियान चलाया गया था और इस अभियान के तहत अभी तक चंबल क्षेत्र के भिंड जिले में 163 वाहन 132 मुरैना में और एक सौ वाहन दतिया जिले में जब्त किये गये।

नरेन्द्र कुमार हत्याकांड संबंधी पुलिस जांच में राजनीतिक दवाब के बारे में पूछे जाने पर गुप्ता ने कहा कि किसी प्रकार के राजनीतिक दवाब का प्रश्न नहीं उठता क्योंकि हमने अपने परिवार का एक युवा और कर्मठ अधिकारी खो दिया है।

नरेन्द्र कुमार की मृत्यु के कारणों का जिक्र करते हुए गुप्ता ने बताया कि पहले उन्होने ट्रैक्टर ट्रॉली को रोकने का प्रयास किया और चालक ने उसे रोक दिया था। उन्होने बताया कि ट्रैक्टर ट्रॉली रोकने के कुछ ही क्षण बाद चालक मनोज गुर्जर ने पुन: उसे चालू कर दिया और भागने का प्रयास किया लेकिन नरेन्द्र कुमार उस पर चढ़ गये।

उन्होने बताया कि इसके बाद चालक ने ट्रैक्टर को इस प्रकार मोड़ा कि नरेन्द्र कुमार उस पर से गिर गये और ट्रैक्टर ट्रॉली का एक महिया उनके शरीर पर से निकल गया। उन्होने बताया कि इस दौरान ट्रॉली पलट गयी और वे उस पर लदे पत्थरों के नीचे दब गये।

नरेन्द्र कुमार की पत्नी मधुरानी तेवतिया स्वंय एक भारतीय प्रशासनिक सेवा की अधिकारी हैं और इस समय वे ग्वालियर में ही पदस्थ हैं। वे इन दिनों प्रसूति अवकाश पर हैं और नरेन्द्र कुमार भी छुट्टी लेकर उनसे मिलने जाने वाले थे।

इस बीच नरेन्द्र कुमार के पिता केशव सिंह ने यह कहकर सरकार की मुश्किले और बढ़ा दी कि उनका बेटा अक्सर उनसे कहा करता था कि वह तो बहुत कुछ करना चाहता था लेकिन उनके अधिकारियों को पूरा सहयोग उन्हें नहीं मिल रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:योजनाबद्ध नहीं आईपीएस अफसर की हत्याः डीआईजी