DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बदमाशों से लोहा ले रही हैं महिलाएं

गाजियाबाद, सौरभ श्रीवास्तव।

शहर में महिलाओं से दिनदहाड़े चेन और पर्स छीनने की घटनाएं आम बात हो गई है। अगर महिलाएं विरोध करती हैं तो उन पर जानलेवा हमला कर दिया जाता है। इसके बावजूद महिलाएं बदमाशों से लोहा लेती हैं। पुलिस अधिकारी महिलाओं की सुरक्षा के लिए हमेशा तत्पर रहने का दावा तो करती है मगर वह बदमाशों पर शिकंजा नहीं कस पाती है। हॉट सिटी की साहसी महिलाएं 05 मार्च 2012- साहिबाबाद स्थित लाजपत नगर निवासी एक ज्वेलर के घर में हथियारबंद बदमाशों ने धावा बोल दिया।

बदमाश अपने मंसूबों में कामयाब हो पाते उससे पहले ज्वेलर हेमराज की बेटी टीना ने बहादुरी दिखाई और शोर मचाकर लोगों को इकट्ठा कर लिया। अगर यह बीटेक की छात्रा टीना शोर नहीं मचाती तो बदमाश एक बड़ी वारदात को अंजाम दे सकते थे। बदमाशों के खौफ के आगे टीना नहीं दबी और उसने साहस का परिचय दिया।20 दिसंबर 2011 : कविनगर इलाके में स्टेट लेवल की हॉकी प्लेयर व जूडो ब्लैक बेल्ट होल्डर नेहा पर बदमाशों ने धावा बोल दिया।

धारधार हथियार से वार किए, मगर नेहा ने उनका मुकाबला किया। बदमाश उसे अधमरा कर वहां से फरार हो गए। 22 फरवरी 2010 : कविनगर स्थित हाइडिल कॉलोनी में रहने वाले एसडीओ मो. अरशद डय़ूटी पर गए हुए थे। घर पर उनकी पत्नी नजमा परवीन और नौकरानी रेनू थी। दिनदहाड़े बदमाशों ने उनके घर में धावा बोल दिया। विरोध करने पर बदमाश फरार हो गए। मगर दो दिन बाद बाजार में उन बदमाशों का सामना नजमा से हो गया। नजमा ने उन्हें सड़क पर दबोच लिया और पुलिस के हवाले किया।

2011 महिलाओं के साथ हुआ क्राइम रिकार्डदहेज हत्या-43रेप-19स्नैचिंग -59छेड़छाड़-90महिला हत्या-27महिलाओं के अपहरण- 211-

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बदमाशों से लोहा ले रही हैं महिलाएं