DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अटवाल हो सकते हैं पंजाब विधानसभा अध्यक्ष

पूर्व लोकसभा अध्यक्ष और पंजाब विधानसभा चुनावों में पायल सुरक्षित विधानसभा क्षेत्र से चुनाव जीत कर आए अकाली नेता चरणजीत सिंह अटवाल इस बार राज्य विधानसभा के अध्यक्ष हो सकते हैं।
 
राज्य के निवर्तमान विधानसभा अध्यक्ष निर्मल सिंह के फतेहगढ़ चूडि़यां से चुनाव हार जाने के कारण अटवाल की सदन संचालन के अनुभव को देखते हुए विधानसभा अध्यक्ष पद पर ताजपोशी लगभग तय मानी जा रही है। उधर भाजपा कोटे से विधानसभा उपाध्यक्ष पद फिर से चुन्नी लाल भगत को मिल सकता है। भगत जालंधर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र से पुन: चुनाव जीत गए हैं।
 
इस बीच राज्यपाल शिवराज पाटिल ने राज्य की 13वीं विधानसभा भंग कर दी है। जिससे नई विधानसभा के गठन का मार्ग प्रशस्त हो गया है।
 
राज्य में सत्तारूढ़ शिरोमणि अकाली दल शिअद भारतीय जनता पार्टीभाजपा गठबंधन इस बार चुनावों में भी स्पष्ट बहुमत के साथ जीता है तथा इसकी कल महत्वपूर्ण बैठकें होने वाली हैं। कल प्रात: दस बजे पंजाब भवन में शिअद के नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक होगी तथा इसमें पार्टी विधायक दल के नेता का चयन करने तथा अन्य महत्वपूर्ण फैसले लिए जाने की सम्भावना है।
 
शाम को चार बजे पंजाब भवन में ही शिअद और भाजपा के नवनिर्वाचित विधायकों की एक संयुक्त बैठक होगी। जिसमें दोनों दलों के वरिष्ठ नेता भी भाग लेंगे। भाजपा की ओर से केंद्रीय पर्यवेक्षकों में वरिष्ठ नेता अरूण जेटली तथा महासचिव रामपाल, प्रदेश मामलों के प्रभारी शांता कुमार और चुनाव प्रभारी जगत प्रकाश नढडा भी भाग लेंगे। इस बैठक में सम्भवत: नौ मार्च को राज्य के नए मुख्यमंत्री के साथ किन और कितने मंत्रियों को शपथ ग्रहण कराई जाएगी इस पर भी सहमति बनेगी। तदोपरांत सायं छह बजे इसी स्थल पर शिअद की कोर कमेटी की बैठक होगी।
 
पिछली बार मुख्यमंत्री का शपथग्रहण राजभवन के बजाय मोहाली के क्रिकेट स्टेडियम में हुआ था तथा इस बार भी कार्यकर्ताओं के बड़ी संख्या में शपथ ग्रहण समारोह में आने के मद्देनर संभवत इसी स्थल: को चुना जा सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अटवाल हो सकते हैं पंजाब विधानसभा अध्यक्ष