DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राहुल ने ली हार की जिम्मेदारी

कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में पार्टी के खराब प्रदर्शन की जिम्मेदारी ली है। चुनाव परिणाम के बाद मीडिया से रूबरू होते हुए उन्होंने कहा कि यूपी चुनाव प्रचार की कमान उन्होंने संभाली थी। इसलिए हार की जिम्मेदारी भी उनकी है।

राहुल गांधी ने कहा, हम मिलकर लड़े, अच्छा लड़े लेकिन नतीजे अच्छे नहीं रहे। हम देश की राजनीतिक व्यवस्था को सुधारने की कोशिश कर रहे हैं। चुनावी नतीजें जो भी हों, उनका काम जारी रहेगा।

यूपी विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान राहुल गांधी ने 211 रैलियां और 18 रोड शो किए। करीब 48 दिन चले चुनाव अभियान में 229 विधानसभा क्षेत्रों में प्रचार किया। पार्टी के एक नेता के मुताबिक, यह पहला मौका है जब कांग्रेस के प्रथम परिवार के किसी सदस्य ने सार्वजानिक तौर पर चुनाव में हार की जिम्मेदारी स्वीकार की है।

कांग्रेस के खराब प्रदर्शन के बारे में सवाल किए जाने पर राहुल गांधी ने कहा कि यूपी में कांग्रेस का आधार कमजोर है। इसे मजबूत करने की जरूरत है। हालांकि, पार्टी ने 2007 से अब तक प्रदर्शन में सुधार किया है। पर इसके लिए काफी कुछ करने की  जरूरत है।

सियासी हलकों में इस बात को लेकर काफी आलोचना हो रही थी कि पार्टी की जीत का श्रेय कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी महासचिव राहुल गांधी को दिया जाता है। पर हार की जिम्मेदारी किसी दूसरे नेता पर डाल दी जाती है। राहुल गांधी ने हार की जिम्मेदारी लेकर इन आलोचनाओं को खत्म कर दिया है।

इस बीच, यूपी के प्रभारी दिग्विजय सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की है। मुलाकात के बाद उन्होंने कहा कि वह अत्याधिक आहत है और हार की पूरी जिम्मेदारी स्वीकार करते हैं।

हालांकि, अपने इस्तीफे के बारे में सवालों को वे टाल गए। महासचिव पद और यूपी के प्रभारी के पद से त्यागपत्र के बारे में सवाल किए जाने पर उन्होंने कहा कि यह मामला उनके और कांग्रेस अध्यक्ष के बीच का है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राहुल ने ली हार की जिम्मेदारी