DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वृद्धा की सिल की लोड़ी से सिर कुचलकर हत्या

मथुरा। हिन्दुस्तान संवाद। कोतवाली क्षेत्र स्थित बहादुरपुरा में मकान में अकेली रह रही 75 वर्षीय वृद्धा की अज्ञात लोगों ने सिल की लोड़ी से सिर कुचल कर निर्मम हत्या कर दी। वृद्धा की हत्या का पता तब चला जब मोहल्ले के बच्चों की गेंद वहां चली गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में कर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

वृद्धा के दोनों पुत्र पटियाला (पंजाब) में रहते हैं। मृतका को कानों के कुण्डल व पैरों की पायजेब गायब हैं। उसकी हत्या लूटपाट के उद्देश्य से किए जाने की संम्भावना जताई जा रही है।पुराना बस स्टैण्ड के पीछे स्थित बहादुरपुरा में मंगलवार की दोपहर बच्चों क्रिकेट खेल रहे थे।

बच्चों की गेंद समीप ही खंडहर जैसे पड़े नारायणी देवी पत्नी स्व. शोभाराम के मकान में चली गई। मकान का दरवाजा बाहर से बंद था। बच्चों पड़ोस के मकान से होते हुए उस घर में पहुंचे। घर के बारामदे में नारायणी देवी का रक्तरंजित अर्धनग्न शव देख कर बच्चों की चीख निकल गई।

मोहल्ले लोग भी वहां पहुंच गए। कोतवाली पुलिस को इस बारे में सूचना दी गई। मौके पर पहुंचे कोतवाली प्रभारी नरेन्द्र सिंह बरगौती ने वहां पहुंच गए। पुलिस ने मृतका के बारे में जानकारी जुटाई।

मोहल्ले वालों ने बताया कि वृद्धा के दो पुत्र नहार सिंह व लख्खी हैं, जो पंजाब के पटियाला में अपने परिवार के साथ रहते हैं। जहां वह मकानों में मारबल लगाने का काम करते हैं। उसकी तीन पुत्रियों में दो कानपुर व एक आगरा के खेरागढ़ में ब्याही हैं।

पुलिस ने मृतका के पुत्र पुत्रियों को इस घटना की सूचना दे दी है। मौके के हालात देख कर लग रहा था कि वृद्धा की हत्या रात के समय कमरे में सिल की लोड़ी से सिर कुचल कर की गई होगी। कमरे में खून से सनी लोड़ी पड़ी हुई थी।

हत्यारों ने वृद्धा के शव को बाहर खींच कर डालने के बाद उसके चेहरे को ईंटों से ढक दिया था। मृतका के कान कटे हुए थे। कान से कुण्डल गायब थे। पड़ोस की महिलाओं ने बताया कि वृद्धा पैरों में चांदी की पायजेब पहने रहती थीं। उन्हें भी हत्यारे उतार ले गए।

मोहल्ले वालों का कहना था कि वृद्धा के पुत्र उसे खर्चा आदि भेजा करते थे। इसके बावजूद भी वह गर्मियों के दिनों में डेम्पियर में लगने वाली पानी की प्याऊ पर पानी पिलाने का काम करती थी। मोहल्ले के लोग उसे खाना आदि खिला दिया करते थे।

उनका कहना था कि वृद्धा की हत्या लूट के लिए की गई होगी। पुलिस ने शव कब्जे में कर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। नशेड़ी व जुआरियों पर हत्या का शक मथुरा। बहादुरपुरा में हुई वृद्धा की हत्या के पीछे मोहल्ले के लोग नशेड़ी और जुआरियों का हाथ होने की सम्भावना जता रहे हैं।

लोगों का कहना था कि सोमवार की रात मोहल्ले में देर रात तक जुएं का फड़ लगा हुआ था। इसके साथ ही उनका कहना है कि मौहल्ले में नशेडिम्यों का भी काफी आतंक है। उनका कहना है कि वृद्धा का घर खण्डहर नुमा हाने के कारण उसमें कोई भी प्रवेश कर सकता है।

मौहल्ले वालों ने बताया कि वृद्धा उन्हें बताती थी कि रात के समय काई उसके किवाड़ बजाता है। कोतवाली प्रभारी नरेंद्र सिंह बरगौती का कहना है कि वह हर कोंण से मामले की जांच कर रहे हैं। शीघ्र ही इस हत्याकाण्ड का खुलासा कर दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वृद्धा की सिल की लोड़ी से सिर कुचलकर हत्या