DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पांच विधायकों को मिली चुनाव में हार

गाजियाबाद। मुख्य संवाददाता। गाजियाबाद व पंचशीलनगर की जनता ने विधानसभा चुनाव में पांच विधायकों को हरा दिया। गाजियाबाद में बसपा को चार सीटें मिलीं तो पंचशीलनगर में दो सीटें सपा के खाते में गईं। निवर्तमान विधायकों में केवल मदन चौहान के हाथ ही जीत लगी। दोनों जनपदों की आठ सीटों में से छह पर जीतने वाले पहली बार विधानसभा पहुंचे हैं।

विधानसभा चुनाव में सियासत का रंग पूरी तरह बदल चुका है। कद्दावर नेताओं को इस बार हार का मुंह देखना पड़ा। चार बार विधायक रहे मदन भैय्या इस बार हैंडपंप के सहारे लोनी से मैदान में थे और बसपा प्रत्याशी से हार गए। पूर्व कैबिनेट मंत्री और सपा प्रत्याशी राजपाल त्यागी मुरादनगर में कांटे के मुकाबले में बसपा से हार गए।

गाजियाबाद से एकमात्र भाजपा विधायक रहे सुनील शर्मा इस बार साहिबाबाद से मैदान में थे। इस सीट को भाजपा के लिए आसान समझा जा रहा था, लेकिन सभी गणित उलट गए और बसपा के अमरपाल शर्मा के हाथ जीत लगी। मोदीनगर के विधायक रहे मास्टर राजपाल का गणित कुछ ऐसे बिगड़ा कि यहां रालोद प्रत्याशी ने उन्हें हरा दिया।

दो बार से हापुड़ के विधायक रहे धर्मपाल सिंह भी इस बार चुनाव हार गए। यहां से लगातार आठवीं बार चुनाव मैदान में उतरे कांग्रेस प्रत्याशी गजराज सिंह चुनाव जीत गए हैं। तमाम अंतरविरोध के बाद भी भाजपा विधायक सुनील शर्मा ने गाजियाबाद की जगह साहिबाबाद को चुना।

राजपाल त्यागी हाथी से उतरकर साइकिल पर सवार हुए, लेकिन साइकिल रफ्तार नहीं पकड़ पाई। उधर गढ़ से दो बार विधायक रहे मदन चौहान तीसरी बार चुनाव जीत गए हैं। चुनाव से पहले कई बार सपा से टिकट को लेकर गलतफहमियां हुई, लेकिन अंत में क्षेत्र की जनता ने उनकी जीत पर मुहर लगा दी। लोनी से जाकिर अली, साहिबाबाद से अमरपाल, गाजियाबाद से सुरेश बंसल, मुरादनगर से वहाब, मोदीनगर से सुदेश शर्मा और धौलाना से जीतने वाले धर्मेश तोमर पहली बार विधानसभा पहुंचे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पांच विधायकों को मिली चुनाव में हार