DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

--पल-पल बदलता रहा मतगणना स्थल का नजारा

गाजियाबाद। सत्यदेव यादवमतगणना स्थल गोविंदपुरम अनाजमंडी। सुबह सात बजे हापुड़ रोड के ट्रैफिक को हापुड़ चुंगी से डाइवर्ट कर एनएच 24 पर भेज दिया। पुलिस बल की मौजूदगी में हापुड़ चुंगी छावनी में तब्दील हो चुकी थी। अनाजमंडी के बाहर भारी संख्या में सुरक्षा बल तैनात थे। प्रवेश पर मेटल डिटेक्टर के जरिए तलाशी ली जा रही थी।

अनाजमंडी के अंदर आठ पंडालों में मतगणना शुरू होने वाली थी। मंडी के अंदर सुरक्षा बल, ऑब्जर्वर, गाजियाबाद और पंचशीलनगर के अधिकारी, सुरपवाइजर, सहायक, कर्मचारी, प्रत्याशी उनके एजेंट और मीडियाकर्मी के अलावा कोई नहीं था। आठ बजते ही कंट्रोल यूनिट का सील तोड़ा गया। मशीन ऑन की गई और रिजल्ट का बटन दबाते ही परिणाम आने शुरू हो गए।

गाजियाबाद, साहिबाबाद, लोनी, मोदीनगर, मुरादनगर, गढ़मुक्तेश्वर, धौलाना और हापुड़ विधानसभा के पंडालों में मतगणना परिणाम देखने प्रत्याशी मौजूद रहे। 8:30, सूचना नहीं मिलने पर मीडियाकर्मी भड़केमीडिया कक्ष में सबकुछ सामान्य नहीं था।

हर पंडाल में मीडिया को रिजल्ट अपडेट करने के लिए लायजन अफसर तैनात किए गए थे लेकिन काउंटिंग शुरू होने के आधे घंटे बाद कोई जानकारी नहीं मिलने से मीडियाकर्मी नाराज हो गए। अनाजमंडी में मौजूद जिला निर्वाचन अधिकारी अपर्णा/डीम उपाध्याय के पास सारे मीडिया कर्मी पहुंचे और मामले से अवगत कराया। डीम ने 10 मिनट का समय मांगा।

10 मिनट बाद मीडिया कर्मियों को सूचनाएं मिलने लगीं। 9:05, अमरपाल की बढ़त गले नहीं उतरी प्रारंभिक रुझान आने शुरू हुए। सबसे बड़ी विधानसभा साहिबाबाद के प्रारंभिक राउंड में बसपा प्रत्याशी अमरपाल ने बढ़त बना ली। सबने कहा 47 राउंड होने हैं। भाजपा प्रत्याशी सुनील शर्मा ही जीतेंगे।

गाजियाबाद सीट पर भी बसपा प्रत्याशी सुरेश बंसल ने बढ़त बना ली। बंसल के आगे रहने की उम्मीद सभी को थी इसलिए कोई अचंभित नहीं था। लोनी में रालोद-कांग्रेस प्रत्याशी मदन भया आगे थे तो मोदीनगर में कांग्रेस-रालोद प्रत्याशी सुदेश शर्मा ने बढ़त बना ली। मतगणना जोर पकड़ चुकी थी।

11:05, तेजी से रुझान आने लगेतेजी से रुझान आने लगे। गाजियाबाद सीट पर सुरेश बसंल (बसपा) की जीत तय मानी जाने लगी। अब तक वह अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी अतुल गर्ग (भाजपा) से 5000 वोटों से बढ़त बना चुके थे। साहिबाबाद सीट पर अमरपाल (बसपा) ने भी लगातार बढ़त बना रखी थी।

अमरपाल अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी सुनील शर्मा (भाजपा) से 8000 वोटों से आगे हो चुके थे लेकिन लोगों को अब भी अमरपाल की जीत पक्की नहीं लग रही थी। कहा गया अभी तक खोड़ा की काउंटिंग हुई है। पॉश कॉलोनियों की काउंटिंग होगी तो सुनील आगे निकल जाएंगे।

मुरादनगर सीट पर सपा प्रत्याशी राजपाल त्यागी आगे थे। 12:05, कई उलटफेर देखने को मिलेदोपहर 12 बजे कई उलटफेर देखने को मिले। मुरादनगर सीट पर राजपाल त्यागी को पछाड़ कर वहाब चौधरी (बसपा) ने 2000 वोटों से बढ़त बना ली। अब तक 19 राउंड की काउंटिंग हो चुकी थी।

लोगों ने कहा अब राजपाल का आगे निकल पाने मुश्किल है। इस बीच मोदीनगर की स्थिति स्पष्ट हो गई। यहां सुदेश शर्मा (कांग्रेस-रालोद) की जीत लगभग तय थी क्योंकि अब तक वह 12 हजार वोटों से आगे निकल चुके थे और अंतिम चक्र की गिनती शेष रह गई थी।

गाजियाबाद सीट पर सुदेश शर्मा भी बहुत आगे निकल चुके थे। साहिबाबाद सीट अमरपाल के नाम होती जा रही थी। अब तक अमरपाल 20 हजार वोटों के अंतर से मौजूदा शहर विधायक सुनील शर्मा को पछाड़ चुके थे। जीत के लिए आश्वत होते प्रत्याशियों के समर्थकों के विजय नारे सुनाई देने लगे थे।

1:05, जीत की घोषणाएं शुरू हुईंएक बजे जीत की घोषणा हो गई। मोदीनगर, मुरादनगर, हापुड़, धौलाना, गाजियाबाद और गढ़ की तस्वीर स्पष्ट हो गई। विजय नगाड़े बजने लगे। मोदीनगर सीट कांग्रेस-रालोद प्रत्याशी सुदेश शर्मा के नाम हो गई। वह 58,635 वोट पाकर जीत गए।

मुरादनगर से वहाब चौधरी (बसपा) के सिर ताज हो गया। वहाब को 57,103 वोट मिले। गाजियाबाद से बसपा के सुरेश बंसल को विधायक घोषित कर दिया गया। वह 64,485 पाकर जीत गए। हापुड़ विधानसभा सीट को 77,126 वोट प्राप्त कर गजराज सिंह (कांग्रेस) अपने नाम कर लिए।

धौलाना का विधायक धर्मेश सिंह तोमर (सपा) बन गए। उन्हें 59,150 वोट मिले। गढ़ से भी सपा प्रत्याशी मदन चौहान ने जीत दर्ज की। उन्हें 82,816 लोगों ने वोट दिया है। जीत का जश्न मनने लगा। विधायक बनने के बाद उम्मीदवारों के चेहरे पर चमक थी। पलभर में महीनों की थकान दूर हो गई।

समर्थक अपने नए और दोबारा बने विधायकों को कंधे पर बैठाकर खुशी का इजहार करने लगे। गुलाल उड़े और बधाइयों का सिलसिला शुरू हुआ। मिठाइयां बंटने लगी। 2:05, मदन भया की हार, अमरपाल की जीत पक्की दोपहर दो बजे लोनी की स्थिति भी स्पष्ट हो गई।

अब लोगों को अमरपाल की जीत पक्की लगने लगी। लोनी से तीन बार विधायक रहे मदन भया की हार भारी उलटफेर की गवाह बनी। लोनी के नए विधायक हाजी जाकिर अली (बसपा) चुन लिए गए। जाकिर को 89,603 वोट मिले।

वहीं अमरपाल शर्मा अब तक सुनील शर्मा से 20 हजार से अधिक वोटों से आगे चल रहे थे। अब तक साहिबाबाद के 28 च्रक्र की काउंटिंग हो चुकी थी। 47 चक्र होने थे। सुनील शर्मा को जीतने की उम्मीद न के बराबर लगी और वह पंडाल से बाहरी निकल आए। अब बस साहिबाबाद की काउंटिंग पूरी होने और औपचारिक घोषणा का इंतजार होने लगा। 3:45,

नीले गुलाल की होली अनाजमंडी लगभग खाली हो चुकी थी। नए विधायक अपने-अपने क्षेत्र की ओर कूच कर चुके थे। साहिबाबाद पंडाल के बाहर माहौल गर्म था। बसपा के अमरपाल शर्मा के समर्थकों की भारी भीड़ इकट्ठी हो चुकी थी। अमरपाल शर्मा ब्लैक सफारी सूट पहने पंडाल के बाहर नजर आए।

उन्हें देखते ही समर्थक उत्साह से भर गए और विजयनारा लगाने लगे। कुछ ही क्षण में नीले गुलाल की होली खेली गई और अमरपाल को लोगों ने कंधे पर बैठा लिया। पंडाल से अमरपाल के जीत की घोषणा हुई और वह अंदर प्रमाण पत्र लेने चले गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:--पल-पल बदलता रहा मतगणना स्थल का नजारा