DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गुंडागर्दी का तमगा नहीं लगने देंगे: वीरपाल

बरेली। वरिष्ठ संवाददाता।

फागुन का चटक रंग सपा पर ही चढ़ा है। अप्रत्याशित चुनावी नतीजों के बाद प्रदेश में सत्तारूढ़ होने जा रही समाजवादी पार्टी इस बार अपनी छवि को लेकर सतर्क है। बसपा ने पूरे पांच साल सपा की इसी छवि का ढिंढोरा पीटा और हर सभा में भी इसी मुद्दे को खूब उछाला। जनता बसपा के भ्रष्टाचार से और प्रशासनिक मशीनरी के जरिए हो रही लूट से तंग थी।

लिहाजा उसने छवि बिगाड़ने के बयान पर ध्यान नहीं दिया। अब सपा इसी छवि से निजात पाना चाहती है और इसके लिए उसने कमर भी कस ली है। इसके संकेत राज्यसभा सदस्य व जिलाध्यक्ष वीरपाल सिंह यादव ने भी दे दिया है। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी अब नहीं चलने दी जाएगी।

 यादव ने कहा कि पार्टी ने अपने चुनावी घोषणा पत्र के अनुसार काम करने का फैसला किया है। पार्टी पर युवाओं, छात्राओं, किसानों और मुसलमानों ने भरोसा जताया है।

इस भरोसे को कायम रखना है। वे मानते हैं कि हम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए। प्रयास में कोई कमी नहीं हुई। पार्टी बदले की भावना से कोई काम नहीं करेगी, इसलिए कार्यकर्ता भी पूरी तरह संयम बरत कर बड़प्पन का परिचय दें। जनता बसपा के भ्रष्टाचार,गुंडाराज चंदा उगाही से त्रस्त थी। सपा ही इसे खत्म कर सकती है इसलिए उसने सपा को चुना है। सपा की लहर थी और घोषणा पत्र में जो वायदे किए गए उसे जनता ने माना और अब उस पर काम किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गुंडागर्दी का तमगा नहीं लगने देंगे: वीरपाल