DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैट्रिक और इंटर की परीक्षा का बदलेगा पैटर्न

मैट्रिक और इंटर की परीक्षा के पैटर्न में बदलाव किया जाएगा। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने इस दिशा में पहल तेज कर दी है। इस प्रक्रिया से छात्रों के साथ-साथ परीक्षा समिति को भी फायदा होगा। नए प्रारूप में उत्तरपुस्तिका (कॉपी) में ही सवाल रहेंगे और प्रत्येक प्रश्न के उत्तर के लिए जगह निर्धारित होगी। छात्रों को निर्धारित शब्दों में ही उत्तर लिखना होगा।

वर्तमान में छात्रों को प्रश्नपत्र और उत्तर लिखने के लिए उत्तरपुस्तिका अलग से दी जाती है। छात्र-छात्रएं निर्देश के बाद भी अधिक प्रश्नों का जवाब निर्धारित शब्दों से अधिक में देते हैं, ताकि अधिक अंक मिले।

प्रश्नपत्र और कॉपियों की छपाई में खर्च भी अधिक होता थी। कॉपी में ही सवाल होने से परीक्षा समिति के खर्च में कमी आएगी। साथ ही फर्जी प्रश्नपत्र बेचने वाले असामाजिक तत्वों पर रोक लगेगी। कॉपी में प्रश्न होने से सादे पेपर पर डुप्लीकेट प्रश्न बनाकर बेचने वाले पकड़ में जल्दी आ जाएंगे।

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष प्रो. राजमणि प्रसाद सिन्हा ने बताया कि आने वाले दिनों में कई बदलाव होंगे। मूल्यांकन पद्धति में भी बदलाव होगा। आईआईटी प्रवेश परीक्षाओं में बोर्ड के अंक को 40 फीसदी वेटेज देने की बात हो रही है। ऐसी स्थिति में मूल्यांकन पद्धति में बदलाव करना जरूरी है।

बेहतर मूल्यांकन के लिए शिक्षकों को ट्रेनिंग दी जाएगी। थोड़ी-बहुत गलती पर बच्चों के अंक नहीं काटे जाएंगे। सीबीएसई पैटर्न के आधार पर छात्रों के अंकों का निर्धारण किया जाएगा। नई प्रक्रिया में कॉपियों को रखने की व्यवस्था करने का इंतजाम भी कर लिया गया है। इसके अलावा दसवीं और बारहवीं में सेमेस्टर सिस्टम लागू करने की प्रक्रिया भी चल रही है। सेमेस्टर सिस्टम को लेकर सिलेबस में बदलाव किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मैट्रिक और इंटर की परीक्षा का बदलेगा पैटर्न