DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिन 31, लक्ष्य 2400 करोड़ रुपए वसूली का

जैसे-जैसे समय गुजर रहा है, वैसे-वैसे वाणिज्य कर अधिकारियों की परेशानी बढ़ती जा रही है। उन्हें इस बात का डर है कि अगर टारगेट पूरा नहीं हुआ तो इस बार फिर जवाब तलब होगा। हालांकि, पिछले कुछ वर्षो से 24-25 प्रतिशत से अधिक ग्रोथ रेट के साथ राजस्व वसूली हो रही है। वैसे विभाग को भरोसा है कि लक्ष्य हासिल हो जाएगा।

वास्तविक स्थिति यह है कि बिहार के विभाजन के बाद वाणिज्य कर विभाग ने सिर्फ एक बार ही अपने वार्षिक लक्ष्य को प्राप्त किया है। वह वित्तीय वर्ष था 2002-2003। उस वर्ष वाणिज्य कर विभाग का वार्षिक लक्ष्य 1920.06 करोड़ रुपए था जिसके विरुद्ध विभाग ने 1937.96 करोड़ रुपए का कर वसूल किया था।

वाणिज्य कर विभाग का वार्षिक लक्ष्य 8929 करोड़ रुपये है और फरवरी तक 6540 करोड़ वसूल किए जा चुके हैं। अब लक्ष्य पूरा करने के लिए विभाग के पास समय सिर्फ एक माह शेष है। यानी लगभग 2400 करोड़ रुपये वसूल करने के लिए प्रतिदिन 77 करोड़ रुपए वसूल करने होंगे। पिछले साल इसी अवधि तक विभाग ने 5253 करोड़ रुपये वसूल किया था। विभाग के सभी अंचल प्रभारियों को टारगेट हर हाल में पूरा करने का निर्देश दिया गया है। साथ ही दुकानदारों से अगले साल का अग्रिम टैक्स नहीं लेना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिन 31, लक्ष्य 2400 करोड़ रुपए वसूली का