DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बादल और उनके पुत्र ने पंजाब में रचा इतिहास

शिरोमणि अकाली दल ने पंजाब विधानसभा चुनाव में लगातार दूसरी बार जीत दर्ज कर मंगलवार को इतिहास रच दिया और राज्य की राजनीति के भीष्म पितामह प्रकाश सिंह बादल तथा उनके पुत्र सुखबीर सिंह बादल के नेतृत्व में ऐसा करने वाला राज्य का यह पहला दल बन गया। प्रकाश सिंह बादल पांचवी बार मुख्यमंत्री बनकर एक नया रिकार्ड बना सकते हैं।

ऐतिहासिक जीत दर्ज करते हुए शिरोमणि अकाली दल के वयोवृद्ध संरक्षक ने उल्लेख किया कि पार्टी की कोर कमेटी ही पार्टी का नेता चुनेगी। हालांकि सुखबीर ने कहा कि उनके पिता पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे।

सत्ता विरोधी कारकों से लड़ाई के साथ ही अकाली-भाजपा गठबंधन को भ्रष्टाचार और भाई भतीजावाद जैसे आरोपों का सामना करना पड़ा। यदि गठबंधन प्रकाश सिंह बादल को मुख्यमंत्री के रूप में चुनता है तो वह पांचवीं बार राज्य के मुखिया बनकर नया रिकार्ड बनाएंगे। उन्होंने 1997 और 2007 से दो बार पांच साल का कार्यकाल पूरा किया। इससे पहले वह 1977 से 1980 और 1970 से 1971 तक मुख्यमंत्री रहे।

बादल सीनियर ने गठबंधन की जीत का श्रेय सुखबीर को दिया जो जनवरी 2008 में अपने पिता की जगह पार्टी अध्यक्ष बने और एक साल बाद उपमुख्यमंत्री बने। यह पहला मामला था जब राज्य में पिता पुत्र ने सरकार के दो शीर्षस्थ पदों को संभाला।

प्रकाश सिंह बादल ने जनवरी 2009 में घोषणा की कि सुखबीर उपमुख्यमंत्री बनेंगे जिससे सहयोगी भाजपा भौंचक रह गई। लेकिन प्रकाश सिंह बादल भाजपा नेतृत्व को विश्वास में लेने में सफल रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बादल और उनके पुत्र ने पंजाब में रचा इतिहास