DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दूसरे देशों में भी होती है होली जैसी मस्ती

होली तुम्हारा पसंदीदा त्योहार है। रंगों से भरे इस पर्व का तुम पूरे साल इंतजार करते हो। दोस्तों को रंग लगाने, पानी से भरे गुब्बारे मारने और पिचकारी से उनको भिगोने में तुम्हें बहुता मजा आता है। होली पर बनने वाली गुजिया को देखते ही तुम्हारे मुंह में पानी आ जाता होगा। लेकिन क्या तुम्हें पता है कि दुनिया में रंगों से भरे, होली जैसी मस्ती वाले और कितने त्योहार हैं, जिन्हें लोग उतने ही हषरेल्लास से मनाते हैं। इनके बारे में बता रही हैं शुभा दुबे

सोंगक्रान
थाईलैंड में हर साल लोग 13 से 15 अप्रैल तक सोंगक्रान फेस्टिवल मनाते हैं। तुम्हें जानकर हैरानी होगी कि इस फेस्टिवल का नाम संस्कृत से लिया गया है, जिसका अर्थ किसी राशि में सूर्य के प्रवेश को दर्शाता है। तुम सोच रहे होगे कि थाईलैंड में यह फेस्टिवल आखिर क्यों मनाया जाता है। पूराने समय में थाईलैंड में इसे नए वर्ष के स्वागत के रूप में मनाया जाता था। 13 अप्रैल को थाई नए वर्ष की शुरुआत होती है। लोग इस दिन मंदिरों में जाकर भगवान बुद्ध को जल अर्पित करते हैं और एक दूसरे के हाथों पर पानी छिड़क कर नए साल की शुभकामनाएं देते हैं। तुम्हें लग रहा होगा की यह त्योहार होली से कैसे मेल खाता है।

महासोंगक्रान नामक इस फेस्टिवल में लोग एक दूसरे को पानी में पूरी तरह भिगो देते हैं। थाईलैंड में यह साल का सबसे गर्म समय होता है और ऐसे में यह फेस्टिवल किसी राहत से कम नहीं। जिस तरह तुम होली में अपने दोस्तों को रंग भरे पानी से भिगोते हो, उसी तरह यहां के लोग एक दूसरे पर पानी डालते हैं। इतना ही नहीं, माना जाता है कि यह त्योहार हमारी होली से प्रभावित है। पिचकारियों से रंग डालना तुम सबको बेहद पसंद है। थाईलैंड में भी बच्चे पिचकारियां खरीदते हैं और लोगों को खूब भिगोते हैं।

ला टोमाटिनो
तुम सबने जिंदगी ना मिलेगी दोबारा, का वह गाना तो देखा ही होगा, जिसमें फिल्म के सारे हीरो-हीरोइन टमाटर की होली का मजा लेते हुए दिखाए गए हैं। यह टमाटर की होली स्पेन के एक शहर ब्यूनॉल में मनाई जाती है। ला टोमाटिनो नाम से मशहूर इस टोमेटो फाइट फेस्टिवल को हर साल अगस्त के आखिरी बुधवार को मनाया जाता है।
 
इस त्योहार की शुरुआत 1950 में हुई थी। होली के दिन जिस तरह तुम सब सुबह से ही अपने रंगों के साथ तैयार रहते हो, वैसे ही स्पेन के ला टोमाटिनो सुबह दस बजे से शुरू हो जाता है। फेस्टिवल में करीब डेढ़ लाख टमाटरों का इस्तेमाल किया जाता है। और जैसे होली में तुम एक दूसरे को गुब्बारे मारते हो, उसी तरह यहां लोग टमाटर मारते हैं। हर तरफ टमाटर का लाल रंग छा जाता है। हालांकि इस फेस्टिवल में कुछ नियम बनाए गए हैं, जिनका पालन करना बेहद जरूरी होता है। अगर तुम किसी को टमाटर मार रहे हो तो पहले उसे मसलना होगा, जिससे किसी को चोट ना पहुंचे। टमाटर के अलावा तुम किसी और फल या रंग का इस्तेमाल नहीं कर सकते। इन नियमों के बावजूद लोग इस फस्टिवल को बेहद मस्ती के साथ मनाते हैं।

ग्रेप थ्रोइंग फेस्टिवल
स्पेन का ला टोमाटिनो फेस्टिवल तो बेहद मशहूर है, लेकिन हम तुम्हें यहां के एक ऐसे फेस्टिवल के बारे में बताएंगे, जो मशहूर तो नहीं है, पर उतना ही मजेदार है। स्पेन के मलोर्का द्वीप के बिनिसलेम शहर में हर साल सितंबर के आखिरी सप्ताह के अंत में ग्रेप थ्रोइंग फेस्टिवल मनाया जाता है। माना जाता है कि पुराने समय में यहां रहने वाले किसान इस त्योहार को फसल कटने के बाद मनाते थे।

दो हफ्तों तक चलने वाले इस फेस्टिवल में कई तरह की प्रतियोगिताएं और कार्यक्रम होते हैं। इन में लोगों का सबसे पसंदीद ग्रेप थ्रोइंग कार्यक्रम होता है। इस दौरान लोग खुले मैदान में एक-दूसरे को अंगूरों से सराबोर कर देते हैं। हर तरफ अंगूर ही अंगूर और उसके रस में डूबे लोगों को देखकर तुम्हें ऐसा लगेगा, मानो लोग होली के नीले रंग में रंग गए हैं।

बोरयोंग मड फेस्टिवल
साउथ कोरिया के बोरयोंग में गर्मियों के दौराना बोरयोंग मड फेस्टिवल का आयोजन किया जाता है। जुलाई में दो हफ्तों तक चलने वाला यह फेस्टिवल अपने दूसरे वीकएंड की मस्ती के लिए पूरी दुनिया में मशहूर है और कोरियन के ही नहीं, विदेशी भी केवल इसका हिस्सा बनने के लिए ही कोरिया आते हैं। पूरे विश्व में यह पर्यटकों के पसंदीदा फेस्टिवल में से एक है। इस अनोखे फेस्टिवल की शुरुआत भी अनोखी है। 1996 में बोरयोंग की मिट्टी का इस्तेमाल कर कई कास्मेटिक प्रोडक्ट बनाए गए थे। इन्हें बनाने वाली कंपनियों ने इनका प्रचार करने के लिए यहां मड फेस्टिवल का आयोजन किया, जिसे खासा पसंद किया गया। तब से इसे हर साल मनाया जाता है। फेस्टिवल में बोरयोंग की मिट्टी का इस्तेमाल किया जाता है। मड रेसलिंग, मड स्विमिंग और मिट्टी में फिसलने जैसे खेलों का अयोजन किया जाता है। जिस तरह तुम होली के रंगों में खो जाते हो, वैसे ही यहां लोग मिट्टी में लिपटे रहते हैं।
 
कार्निवल, रियो डि जिनेरो
ब्राजील के शहर रियो डि जिनेरो में हर साल कार्निवल का आयोजन किया जाता है। इसमें दुनिया का हर वो रंग तुम्हें मिलेगा, जिसे तुम देखना चाहो। यह दुनिया का सबसे बड़ा कार्निवल माना जाता है, जिसमें हर दिन करीब 20 लाख लोग भाग लेते हैं। ग्रीक और रोमन के जमाने से बनाए जा रहे एक हफ्ते तक चलने वाले इस कार्निवल में गाने, डांस, झाकियां सब कुछ होता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दूसरे देशों में भी होती है होली जैसी मस्ती