DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंजाब चुनाव: बादलों की लड़ाई में प्रकाश पड़े भारी

पंजाब के लाम्बी विधानसभा क्षेत्र पर मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने एक बार फिर कब्जा जमा लिया है। यहां बादल परिवार के सदस्यों के बीच दिलचस्प मुकाबला था। मुख्यमंत्री के चचेरे भाई महेशिंदर सिंह बादल कांग्रेस से उम्मीदवार थे, तो छोटे भाई गुरुदास बादल पीपुल्स पार्टी ऑफ पंजाब (पीपीपी) के टिकट पर चुनाव लड़ रहे थे।

प्रकाश सिंह बादल ने महेशिंदर को 24,739 मतों से पराजित कर शानदार जीत दर्ज की। प्रकाश सिंह को 67,999 मत मिले जबकि महेशिंदर को 43,260 मतों पर संतोष करना पड़ा। गुरुदास बादल तीसरे स्थान पर रहे। उन्हें सिर्फ 5352 मत ही मिले।

यह विधानसभा सीट पंजाब के प्रथम राजनीतिक परिवार बादल की आपसी राजनीतिक लड़ाई का गवाह बनी।

वर्ष 2007 में हुए चुनाव में प्रकाश सिंह बादल ने कांग्रेस प्रत्याशी महेशिंदर को 9000 मतों के अंतर से पराजित किया था। कभी संयुक्त परिवार का हिस्सा रहे बादल भाई राजनीतिक तौर पर शिरोमणि अकाली दल, पीपीपी एवं कांग्रेस में बंट चुके हैं।

प्रकाश सिंह से नाराज होकर भतीजे मनप्रीत बादल ने पीपीपी का गठन किया था। मनप्रीत गिदड़बाहा एवं मौर से चुनाव हार गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पंजाब चुनाव: बादलों की लड़ाई में प्रकाश पड़े भारी