DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नकली घी की पैकिंग पर 4.60 लाख का जुर्माना

गाजीपुर, निज संवाददाता।

पिछले वर्ष सितम्बर माह में पामोलिन आयल को अन्य कंपनी के डिब्बे में पैकिंग कर बेचने के आरोप में चल रहे मुकदमे की सुनवाई सोमवार को एडीएम कोर्ट में हुई। कोर्ट ने सुनवाई करने के बाद तीन लोगों पर चार लाख साठ हजार का अर्थदंड लगाया। अर्थदंड की धनराशि दस दिन के भीतर किसी राष्ट्रीयकृत बैंक में जमा करना है।खाद्य सुरक्षा एवं औषधि विभाग को सूचना मिली थी कि जिले में कुछ लोग पामोलिन आयल को ब्रांडेड कंपनियों के डिब्बों में पैकिंग कर उसे क्षेत्र में बेच रहे हैं।

इसके बाद विभाग इस गोरखधंधे को पकड़ने की फिराक में लग गया। मुखबिर की सूचना पर 23 सितंबर 2011 को फूड इंस्पेक्टर आशुतोष राय ने युसूफपुर के एक गोदाम पर छापा मारा तो वहां 15 लीटर के 50 डिब्बों में भरा पामोलिन आयल मिला। इस पर विभाग ने तेल के नमूने लेकर जांच के लिए भेज दिये। वहीं गोदाम मालिक ने बेचने वाले और बनाने वाले लोगों के खिलाफ थाने में मुकदमा दर्ज करा दिया। इसकी सुनवाई सोमवार को एडीएम कोर्ट में हुई। एडीएम भोला नाथ मिश्र ने तीनों को दोषी पाए जाते हुए चार लाख साठ हजार का अर्थदंड लगाया।

कोर्ट ने भांवरकोल थाना अन्तर्गत लोहारपुर गांव निवासी गौरीशंकर यादव पर एक लाख रुपये का, युसूफपुर के मंगला बाजार निवासी फेंकू लाल पुत्र राममूरत पर दस हजार व युसूफपुर के सुजीत कुमार दीपक कुमार एंड कंपनी के सुरेश चन्द्र पुत्र बैजनाथ पर तीन लाख पचास हजार रुपये का अर्थदंड लगाया है। अर्थदंड का पैसा दस दिन के भीतर विभाग के नाम से किसी राष्ट्रीयकृत बैंक में जमा करना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नकली घी की पैकिंग पर 4.60 लाख का जुर्माना