DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पेशेवर पढ़ाई पर छात्रों को सौगात

पेशेवर कॉलेजों में 4.5 लाख रुपये सालाना कमाई वाले लोगों के बच्चों के लिए पांच फीसदी सीटें रिजर्व रखी जाएंगी और उन्हें ट्यूशन फीस नहीं देनी होगी। हालांकि उन्हें अन्य फीस का भुगतान करना होगा।

अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) ने राज्यों से सभी सरकारी और निजी कॉलेजों में इस आदेश को अगले सत्र से सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया है। एआईसीटीई ने हालांकि पिछले साल ही इसकी घोषणा की थी, लेकिन राज्य इसके क्रियान्वयन में विफल रहे।
राज्यों में आमतौर पर एक लाख रुपये से कम आय वालों को इस दायरे में रखा गया है।
लेकिन नए आदेश में एआईसीटीई ने इन सीटों पर प्रवेश के लिए आय की अधिकतम सीमा 4.5 लाख रुपये सालाना तय कर दी है। परिषद ने राज्यों से कहा कि वे इस दायरे में आने वाले छात्रों से छूट के लिए अलग से आवेदन मांगें और उन्हें सीटें दें।

ये प्रावधान एआईसीटीई द्वारा मान्यता प्राप्त सरकारी, सरकार द्वारा सहायता प्राप्त या निजी सभी कॉलेजों के लिए मान्य होंगे। आदेश बैचलर, पोस्ट बैचलर, डिप्लोमा और पोस्ट डिप्लोमा कोर्स पर लागू होगा। एआईसीटीई ने अपने आदेश में यह भी कहा है कि यदि इन सीटों पर एडमिशन के लिए छात्र उपलब्ध नहीं होते हैं तो उन्हें किसी सामान्य कोटे से न भरा जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पेशेवर पढ़ाई पर छात्रों को सौगात