DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उपाय क्या?

नामी संस्थान में दाखिला मिलने की जद्दोजहद, उसके बाद वहां खुद को साबित करने की होड़। हसरतें पूरी करने के दबाव में छात्र कभी-कभी अपना संतुलन खोने लगते हैं। एक असफलता इतना हताश कर देती है कि युवा जीवन का अंत करने से नहीं चूकते।

आईआईटी, आईआईएम और एम्स जैसे संस्थानों में छात्रों को तनाव से दूर रखने के लिए काउंसलिंग केंद्र भी बनाए गए हैं। कई आईआईटी में तनाव की स्थिति में पेपरों में छूट तक दे दी जाती है। फिर भी खुदकुशी जैसी घटना सामने आ ही जाती है। उपाय खोजना जरूरी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उपाय क्या?