DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बोर्ड परीक्षा देंगे 60 हजार विद्यार्थी

बलिया। अमृत कुमार।

जिले में 186 विद्यालयों के 60 हजार विद्यार्थी यूपी बोर्ड परीक्षा देंगे। दरअसल, डीआईओएस कार्यालय और स्कूल प्रशासन की लापरवाही से नामावली सूची में उनका नाम ही नहीं था। इससे उनके भविष्य पर ग्रहण लग गया था। ‘हिन्दुस्तान’ में छपी खबर को संज्ञान में लेते हुए शासन ने इन विद्यार्थियों की नामावली सूची छापने का आदेश दिया। रविवार होने के बावजूद वाराणसी स्थित क्षेत्रीय बोर्ड कार्यालयसे विद्यार्थियों की नामावली सूची छपने के लिए दिल्ली भेज दी गयी। डीआईओएस कार्यालय व स्कूल प्रशासन की लापरवाही से 60 हजार विद्यार्थियों का भविष्य दांव पर लगने संबंधी खबर ‘हिन्दुस्तान’ ने 22 फरवरी के अंक में ‘60 हजार छात्रों की बोर्ड परीक्षा पर लगा ग्रहण’ शीर्षक से छापी। इसके बाद शिक्षा विभाग के अधिकारियों की नींद टूटी। आनन-फानन में डीआईओएस प्रमोद कुमार ने यूपी बोर्ड के अधिकारियों को सारे मामले की जानकारी दी। इस बीच, शिक्षक संघों के पदाधिकारियों ने शनिवार को प्रमुख सचिव एसएन प्रधान व माध्यमिक शिक्षा सचिव जीतेन्द्र कुमार से मुलाकात कर 60 हजार विद्यार्थियों के भविष्य पर लगे ग्रहण के सिलसिले में बातचीत की।

निदेशालय के आदेश पर रविवार को वाराणसी स्थित यूपी बोर्ड के क्षेत्रीय कार्यालय ने 60 हजार विद्यार्थियों की नामावली सूची छपने के लिए दिल्ली भेज दी। इसकी पुष्टि वाराणसी स्थित क्षेत्रीय बोर्ड कार्यालय ने की। माना जा रहा है कि लापरवाही बरतने के आरोप में यूपी बोर्ड जिले के 186 विद्यालयों डिबार घोषित कर सकता है। शिक्षक संघों के प्रतिनिधिमंडल ने शनिवार को प्रमुख सचिव व माध्यमिक सचिव को मामले से अवगत कराया। सचिव ने तत्काल क्षेत्रीय कार्यालय के अधिकारियों को कार्रवाई का आदेश दिया। चौधरी रामजीत सिंह, प्रदेश अध्यक्ष, माविवि शिक्षक संघ

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बोर्ड परीक्षा देंगे 60 हजार विद्यार्थी