DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सड़क पर उतरे यूपीईएस के छात्र

देहरादून वरिष्ठ संवाददाता।

युनिवर्सिटी ऑफ पेट्रोलियम एंड एनर्जी स्टडीज (यूपीईएस) के जियो साइंस के छात्रों ने युनिवर्सिटी पर गंभीर आरोप लगाते हुए जुलूस निकाला। छात्रों के आंदोलन के चलते युनिवर्सिटी में एक हफ्ते से कामकाज लगभग ठप है।यूपीईएस में बीटेक जियोसांइस के अंतिम वर्ष के छात्रों ने रविवार को घंटाघर से परेड ग्राउंड तक जुलूस निकाला। प्रदर्शनकारी विवि प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। छात्रों का आरोप है कि विवि ने प्रवेश के समय उन्हें गुमराह कर उनके भविष्य को अंधकारमय बना दिया है।

चार लाख से ज्यादा फीस चुकाने व चार साल का बीटेक का कोर्स करने के बाद अब छात्रों को न तो किसी उच्च संस्थान में एड़ािशन मिल रहा है और न ही कहीं ठीक रोजगार।

प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व कर रहे कृष्ण कुमार गुप्ता ने बताया कि प्रवेश के समय विवि ने ओएनजीसी समेत देश विदेश के नामी संस्थानों में निश्चित रोजगार की बात कही थी। छात्रों का कहना था कि पिछले दिनों कैंपस में आए ओएनजीसी के अफसरों ने बताया था कि उनके कोर्स को नेशनल असेसमेंट एंड एक्रीडेशन कांउसिल (एनएएसी) से मान्यता ही नहीं मिली है।

विवि ने वर्ष 2008 से यह कोर्स शुरू किया था। प्रदर्शनकारियों में उर्वशी, निशिकांत, संदीप पान, संदीप, ऋतु, आकाश, सत्यम, पूर्वी, हर्षदेव, वरुण, सौरभ, प्रकाश चंद्रा, पंकज भट्ट, पंकज आदि शामिल थे।पहले बैच के नौ छात्रों को नामी कंपनियों में रोजगार मिल चुका है। जियो सांइस के दो नामी संस्थानों आंध्रा युनिवर्सिटी विशाखापट्टनम व दीनदयाल विश्वविद्यालय अहमदाबाद में छात्र एडमिशन ले सकते हैं। सोमवार को युनिवर्सिटी के वीसी पराग दीवान खुद छात्रों से वार्ता करेंगे।प्रोफेसर अरुण ढांड, प्रवक्ता, यूपीईएस

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सड़क पर उतरे यूपीईएस के छात्र