DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सड़क पर निर्माण से पहले बनेगी सर्विस रोड

 नोएडा कार्यालय संवाददाता।

शहरवासियों के लिए अच्छी खबर है। अब सड़क पर अंडरपास और फ्लाईओवर जैसी सुविधाओं का लाभ उठाने से पहले उन्हें लंबे डायवर्जन का झंझट नहीं ङोलना होगा। अथॉरिटी कहीं भी निर्माण करने से पहले सर्विस लेन बनाएगी। उसके बाद ही सड़क पर निर्माण शुरू होगा। ताकि लोगों को डायवर्जन का सामना नहीं करना पड़े। रजनीगंधा अंडरपास, सेक्टर-37 चौराहे पर फ्लाईओवर और अंडरपास के निर्माण के चलते शहरवासियों को हुई परेशानी से सबक लेते हुए अथॉरिटी ने अब कहीं भी निर्माण करने से पहले सर्विस लेन बनाने की पॉलिसी अपनाई है। शुरुआत एमपी थ्री रोड (मेट्रो वाली रोड) पर बनने वाले तीन अंडरपास से होगी। अथॉरिटी के इंजीनियर इन चीफ यादव सिंह ने बताया कि प्राधिकरण का प्रयास लोगों को कम से कम डायवर्जन देना होगा।

क्योंकि ज्यादातर निर्माण डेढ़ से दो साल तक चलते हैं। इस दौरान शहरियों को लंबा डायवर्जन देना, उनके समय और धन दोनों की बर्बादी का कारण बनता है। साथ ही तय समय सीमा में ही सब निर्माण किए जाएंगे। सेक्टर 37 चौराहे पर भी अथॉरिटी ने नौ महीने पहले ही फ्लाईओवर चालू कर दिया है। अंडरपास को भी सात महीने पहले लोगों को देने की योजना है। मोरना और सेक्टर 71 चौराहे पर सबसे पहले बनने हैं अंडरपासनोएडा में सबसे पहले सेक्टर-71 चौराहा और मोरना बस अड्डा चौराहे पर अंडरपास बनने हैं।

अथॉरिटी इन दोनों चौराहों पर अंडरपास का निर्माण शुरू करने से पहले सर्विस लेन बनाने की तैयारी में जुट गई है। एक टीम दोनों चौराहों पर बनने वाले अंडरपास के बराबर से निकलने वाली सर्विस लेन का सर्वे कर रही है। सीनियर प्रोजेक्ट इंजीनियर एके गोयल ने बताया कि मोरना डिपो के पास अंडरपास एनटीपीसी चौराहे और सेक्टर-49 कोतवाली को जाने वाली रोड पर बनेगा। जबकि सेक्टर-71 चौराहे पर नोएडा एक्सटेंशन को जाने वाली सड़क पर अंडरपास बनेगा।

---------सेक्टर-37 में पिछले सवा साल से है डायवर्जन कॉमनवेल्थ गेम्स के बाद ही भंगेल की दिशा से आने वाले वाहन सेक्टर 37 चौराहे पर डायवर्जन का सामना कर रहे हैं। शुरू में तो इस चौराहे पर पूरी तरह से ट्रैफिक बंद रहा था। पिछले अगस्त से स्लिप रोड खोल दी गई थी। जिससे एमपी थ्री रोड और कालिंदी कुंज के बीच का ट्रैफिक तो बगैर डायवर्जन आने-जाने लगा है, पर ग्रेटर नोएडा से आने वाले वाहन अभी भी डायवर्जन का सामना कर रहे हैं।

रजनीगंधा चौराहे पर भी दो साल रहा था डायवर्जनस्पष्ट योजना के अभाव में रजनीगंधा अंडरपास का काम तीन साल चला था। आखिरी एक साल तो डीएससी रोड पर डायवर्जन करने से लोगों को तीन से चार किलोमीटर का डायवर्जन ङोलना पड़ा था। रजनीगंधा अंडरपास पिछले साल 15 अगस्त को लोगों के लिए खोला गया था। उससे दो महीने पहले ही स्लिप रोड चालू हो पाई थी। उससे पहले एक साल तक लोगों को हरौला चौराहे और रजनीगंधा चौराहे पर डायवर्जन का सामना करना पड़ा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सड़क पर निर्माण से पहले बनेगी सर्विस रोड