DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चहकने वाला चूहा

जापान की ओसाका यूनिवर्सिटी के रिसर्चरों ने एक ऐसा जीन-परिवर्तित चूहा विकसित किया है, जो एक पक्षी की तरह चहकता है। रिसर्चरों की टीम का नेतृत्व करने वाले वैज्ञानिक, अरिकुनी उचिमुरा का कहना है कि जीव-जंतुओं के विकास क्रम में जीनों में होने वाले परिवर्तनों की अहम भूमिका होती है। चहकने वाले चूहे के विकास से यह जानने में मदद मिलेगी कि मनुष्यों में भाषा का विकास किस तरह हुआ।

ओसाका की प्रयोगशाला में आनुवांशिक दृष्टि से परिवर्तित हो चुके चूहों का प्रजनन किया जा रहा है। चहकने वाले चूहे का जन्म संयोग से हुआ है, लेकिन उसका चहकने का गुण अगली पीढ़ियों में भी जारी रहेगा। प्रयोगशाला में और आगे अनुसंधान के लिए 100 चहकने वाले चूहों का जन्म हो चुका है।
मुकुल व्यास

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चहकने वाला चूहा