DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पसोपेश में जीएम, कैसे बनेगा प्लेटफॉर्म 11

कुंभ मेले से पहले जंक्शन के पेंडिंग काम पूरा करने का बीड़ा उठाने वाले उत्तर मध्य रेलवे के अफसरों के लिए अब परेशानी खड़ी हो गई है। प्लेटफॉर्म नंबर 11 बनाना तो है, लेकिन इस काम में रेल लाइनें आड़े आ रही हैं, जो खाका तैयार हुआ है उस पर अगर अमल हुआ तो लोको शेड में बदलाव करना होगा। जिससे परेशानी खड़ी होगी। इसी बात को ध्यान में रखते हुए जीएम बीपी खरे ने रविवार को जंक्शन का दौरा किया। सोमवार को उन्हें अफसरों के साथ टूंडला जाना है। उनके वहां से लौटने के बाद प्लेटफॉर्म 11 का खाका फाइनल हो सकेगा।

इलाहाबाद जंक्शन पर एक नया प्लेटफॉर्म जल्द ही बनना है। प्लेटफॉर्म नंबर 11 को रेलवे बोर्ड से पहले ही स्वीकृति मिल चुकी है। कुंभ से पहले इसका निर्माण पूरा कराने की योजना है। प्लेटफॉर्म नंबर 11 लोको शेड से लेकर सिविल लाइंस साइड के पहले और दूसरे फुट ओवर ब्रिज के बीच बनना है। प्लेटफॉर्म बनाने के लिए लोको शेड के पास का डीजल डिपो हटाना होगा। इसके साथ ही शेड से निकली 14 लाइनों को भी इधर से उधर करना होगा। महज तीन लाइनें ही लोको शेड में बचेंगी। ऐसे में काम प्रभावित होगा। प्लेटफॉर्म की ड्राइंग नए जीएम बीपी खरे को भेजी गई तो वह चिंतित हो उठे। रविवार को उन्होंने खुद उस जगह का  मुआयना किया जहां प्लेटफॉर्म बनना है। लगभग 45 मिनट के निरीक्षण में उन्होंने अफसरों के साथ विमर्श भी किया। जीएम को सोमवार को इंस्पेक्शन के लिए टूंडला जाना है। ऐसे में प्लेटफॉर्म नंबर 11 का खाका उनके टूंडला से लौटने के बाद ही तय होगा। निरीक्षण के दौरान डीआरएम हरीन्द्र राव, सीनियर डीओएम पीके ओझा, सीनियर डीसीएम बिजय कुमार व अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पसोपेश में जीएम, कैसे बनेगा प्लेटफॉर्म 11