DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहरी सीटों पर टिकी है आस

उत्तर प्रदेश में अंतिम दौर का मतदान संपन्न होने के बाद भाजपा की सबसे ज्यादा उम्मीद बड़े शहरों पर टिक गई है। जिन शहरों की सीटों से पार्टी को सबसे ज्यादा जीत की आस है उनमें, गोरखपुर, लखनऊ, कानपुर, मेरठ, नोएडा, मुरादाबाद, बरेली, शाहजहांपुर, आगरा, अलीगढ़ प्रमुख हैं।

लेकिन पार्टी नेता कुबूल कर रहे हैं कि बनारस व इलाहाबाद में उनका आंकड़ा गड़बड़ा गया हैं। पार्टी का मानना है कि इन दो शहरों में वरिष्ठ नेताओं के आपसी मतभेद और टिकट वितरण में जीत-हार की बजाय नेताओं की मर्जी को प्राथमिकता देना महंगा पड़ रहा है।

पार्टी की पहली पंक्ति के एक नेता ने सातवें दौर का मतदान खत्म होने के बाद भाजपा की संभावनाओं पर रोशनी डालते हुए कहा कि, शहरों में पार्टी के उम्मीदवार हर सीट पर विरोधियों को कड़ी टक्कर दे रहे हैं। इस नेता के मुताबिक, कुछ शहरों में कांग्रेस तो कहीं सपा से सीधी लड़ाई है। हमेशा की तरह पूर्वी यूपी की बजाय भाजपा को पश्चिम के शहरों से अच्छी रिपोर्ट मिल रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शहरी सीटों पर टिकी है आस