DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पांच करोड़ रुपये की रंगदारी के आरोप में बदमाश गिरफ्तार

रोहिणी में एक बिल्डर के दफ्तर में गोलियां चलाने के बाद उनसे पांच करोड़ रुपये की रंगदारी मांगने के आरोप में चार बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान 22 वर्षीय भूपेन्द्र सिंह अहलावत, 22 वर्षीय सविन्द्र, 19 वर्षीय मंजीत और 21 वर्षीय राहुल डबास के रूप में की गई है। पुलिस ने इनके पास से दो पिस्तौल, छह जिंदा कारतूस और एक चोरी की बाइक बरामद की है। इस गिरोह का सरगना नवीन उर्फ बाली रोहतक जेल में बंद है।

पुलिस उपायुक्त भोला शंकर जायसवाल ने बताया कि गत 28 फरवरी को रोहिणी सेक्टर-11 स्थित परदेसी प्रॉपर्टी में बाइक सवार बदमाशों ने दो राउंड गोलियां चलाई थी। यह पूरी घटना दफ्तर में लगे सीसीटीवी कैमरे में रिकार्ड हो गई थी। हमलावर दफ्तर के मालिक से पांच पांच करोड़ रुपये की रंगदारी मांग रहे थे। मामले की जांच के दौरान गत एक मार्च को बवाना थाने में तैनात हवलदार परमानंद को सूचना मिली कि गोली चलाने वाले बदमाश बवाना नांग्ल रोड से जाएंगे। इस जानकारी पर पुलिस टीम ने एक अल्टो कार में जाते समय मंजीत और राहुल को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपियों ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि परदेसी प्रॉपर्टी में उन्होंने रोहतक जेल में बंद नवीन उर्फ बाली के कहने पर गोलियां चलाई थी। वारदात में नवीन के सहयोगी सविन्द्र और भूपेन्द्र ने उनकी मदद की थी। वह बाहरी दिल्ली के कारोबारियों को फोन पर धमकी देकर उनसे रंगदारी वसूलते हैं। उनके खिलाफ बवाना में रंगदारी मांगने के दो मामले दर्ज हैं। उधर वाहनचोरी निरोधक दस्ते में तैनात एसआई रामकुमार व हवलदार अजयपाल की टीम ने एक गुप्त सूचना पर शाहबाद डेयरी इलाके से बाइक पर जा रहे भूपेन्द्र और सविन्द्र को गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने पूछताछ में बताया कि वह नवीन उर्फ बाली और नीरज गैंग के शूटर हैं। वह बवाना व नरेला औद्योगिक क्षेत्र के कारोबारियों को धमकी देकर जबरन उगाही करते थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पांच करोड़ रुपये की रंगदारी के आरोप में बदमाश गिरफ्तार