DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रोहित व रैना को करना होगा सुधार: वेंगसरकर

भारत के पूर्व कप्तान दिलीप वेंगसरकर का मानना है कि खराब दौर से जूझ रहे रोहित शर्मा और सुरेश रैना को अपनी बल्लेबाजी में सुधार करना होगा। उन्होंने कहा कि रोहित को शॉट के चयन में सतर्कता बरतनी होगी जबकि रैना को शॉर्ट गेंदों को बखूबी खेलना सीखना होगा।

पूर्व मुख्य चयनकर्ता ने विराट कोहली को उपकप्तान बनाने के बीसीसीआई के फैसले को सही ठहराते हुए कहा कि दिल्ली का यह बल्लेबाज टेस्ट में तीसरे नंबर पर उतरने के लायक बनता जा रहा है।

आस्ट्रेलिया में भारतीय टीम के प्रदर्शन पर निराशा जताते हुए वेंगसरकर ने कहा कि बोर्ड को चाहिए कि अनुबंधित खिलाड़ियों के लिए दलीप ट्राफी खेलना अनिवार्य हो। घरेलू क्रिकेट को बेहतर बनाने के लिए बोर्ड की तकनीकी समिति द्वारा किए जा रहे प्रयासों पर प्रसन्नता जताते हुए उन्होंने कहा कि दलीप ट्राफी को सत्र में आखिर में कराने का कोई मतलब नहीं है। उन्होंने कहा कि दलीप ट्राफी इरानी कप और रणजी ट्राफी के बीच में होनी चाहिए।

सवाल: रोहित शर्मा और सुरेश रैना के प्रदर्शन से क्या आप दुखी है। खराब प्रदर्शन का क्या कारण था।
जवाब: रोहित ने कई खराब शॉट खेले। उसे टेस्ट स्तर पर कामयाब होने के लिए अपनी तकनीक सुधारनी होगी। उसमें क्षमता है लेकिन प्रदर्शन भी अच्छा होना जरूरी है। रैना को शार्टपिच गेंदों को बखूबी खेलना सीखना होगा।
 
सवाल: उपकप्तान के रूप में विराट कोहली को कैसे देखते हैं।
जवाब: यह अच्छा फैसला है। वह जबर्दस्त फार्म में है और इसे बरकरार रख सका तो तीन चार साल में कप्तान होगा।

सवाल: राहुल द्रविड़ के रिटायर होने के बाद क्या कोहली तीसरे नंबर के लिए उपयुक्त बल्लेबाज हैं।
जवाब: बिल्कुल। उसकी तकनीक रोहित शर्मा से बेहतर है और मानसिक रूप से वह अधिक दृढ़ है। वह हालात के अनुकूल तेजी से ढलता है।
 
सवाल: भारतीय टीम के आस्ट्रेलिया में प्रदर्शन पर आपकी राय।
जवाब: बेहद निराशाजनक। भारतीय टीम को इस कठिन दौरे की तैयारी का समय ही नहीं मिल सका। कार्यक्रम भी ऐसा था कि पहले टेस्ट से पूर्व सिर्फ एक अभ्यास मैच था। मुझे लगा था कि पहले टेस्ट के बाद उनके खेल में सुधार आयेगा लेकिन ऐसा हुआ नहीं। मैच दर मैच वे खराब खेलते गए।

सवाल: भारतीय क्रिकेट टीम को फिर से पटरी पर लाने के लिए अब क्या करने की जरूरत है।
जवाब: बीसीसीआई को घरेलू क्रिकेट के बारे में गंभीर हो जाना चाहिए। हमारे जूनियर और प्रथम श्रेणी क्रिकेट के स्तर में काफी सुधार की जरूरत है। विकेटों के स्तर में भी सुधार होना चाहिए और इसी तरह ओवरआल ढांचे में। ए टीम के टूर के अलावा अंडर 19 टूर के कार्यक्रम की भी योजना बननी चाहिए ताकि ज्यादा फायदा हासिल किया जा सके।

सवाल: आईसीसी भविष्य दौरा कार्यक्रम के अनुसार जुलाई अगस्त में श्रीलंका में सीरीज की उम्मीद के अलावा भारत न्यूजीलैंड, आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सरजमीं पर खेलेगा। सितंबर में नया चयन पैनल अपना काम कैसे करेगा।
जवाब: चयनकर्ताओं को प्रतिभा पहचाने और उन्हें सही समय पर मौका प्रदान कर उनका विकास करने की कोशिश करनी चाहिए। मौजूदा समय में भारत की बेंच स्ट्रेंथ इतनी मजबूत नहीं है, उन्हें बेंच स्ट्रेंथ बनानी होगी। भारतीय टीम ज्यादातर सीरीजे अपनी सरजमीं पर खेलेगी तो यह ऐसा करने का सही समय होगा।

सवाल: घरेलू क्रिकेट में विकेटों के बारे में क्या काफी काम किया गया है।
जवाब: मैं खुश हूं कि तकनीकी समिति ने घरेलू क्रिकेट के संदर्भ में कुछ कड़े फैसले लिए हैं। मैं सिर्फ यही उम्मीद लगाए हूं कि इन्हें एक समान तरीके से कार्यान्वित किया जाए। हां, विकेट के स्तर के संबंध में काफी कुछ किया गया है, तभी हमारे घरेलू क्रिकेट के ओवरआल स्तर में सुधार होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रोहित व रैना को करना होगा सुधार: वेंगसरकर