DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकार की बैंकिंग नीतियां गलत: वेंकटचलम

बैंकों की पूंजी बढ़ाने के लिए विश्व बैंक से कर्ज लेने की सरकार की नीतियों की आलोचना करते हुए अखिल भारतीय बैंक इंप्लाइज एसोसिएसशन के महासचिव सीएच वेंकटचलम ने शनिवार को यहां कहा कि केंद्र सरकार की बैंकिंग नीतियां गलत हैं और इससे बैंकों को केवल नुकसान ही होगा।

अखिल भारतीय बैंक ऑफ बड़ौदा कर्मचारी समन्वय समिति की बैठक को यहां संबोधित करते हुए वेंकटचलम ने कहा कि सरकार बैंकों की पूंजी बढ़ाने के लिए विश्व बैंक से कर्ज ले रही है। इसका परिणाम यह होगा कि हमारे यहां के बैंकों को विश्व बैंक की शर्तें माननी पड़ेंगी।

उन्होंने कहा कि इससे केवल भारतीय बैंकों का नुकसान ही होगा। उन्होंने आशंका जतायी कि एक समय ऐसा आएगा जब हमें विश्व बैंक के निर्देशों के आधार पर काम करना पडे़गा। सरकार की बैंक सुधार नीतियों की आलोचना करते हुए वेंकटचलम ने कहा कि बैंक सुधार की सरकार की नीतियां दुर्भाग्यपूर्ण है। खंडेलवाल समिति की सिफारिशों को किसी हालत में लागू नहीं किया जाना चाहिए।

इसके साथ ही उन्होंने बैंकों के आपस में विलय की सरकार की नीतियों की भी आलोचना की। इससे पहले अखिल भारतीय बैंक आफ बड़ौदा कर्मचारी समन्वय समिति के महासचिव अमृतलाल ने बताया कि बैंक ऑफ बड़ौदा के 12वें वार्षिक सम्मेलन का आयोजन यहां किया गया है।

इसमें पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, चंडीगढ़ और जम्मू कश्मीर के लगभग 300 प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सरकार की बैंकिंग नीतियां गलत: वेंकटचलम