DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पत्रकारों पर हमले को लेकर BEA ने जतायी चिंता

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया कर्मियों की सर्वोच्च संस्था ब्रॉडकास्ट एडिटर्स असोसिएशन (बीईए) ने मीडिया पर किए जा रहे हमलों को लेकर चिंता जाहिर की है। 
    
बीईए की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है ऐसी सभी घटनाओं में समानता नजर आती है। जिससे ऐसा लगता है मीडिया को इसलिए डराने धमकाने की कोशिशें की जा रही हैं क्योंकि वह जनहित के काम कर रहा है।
    
बयान के मुताबिक, जिस तरह से कर्नाटक विधान सभा की एक समिति ने कुछ टीवी न्यूज चैनलों के संपादकों को तलब किया और उनसे जिस तरह से सवाल किए वह उस बुनियादी सिद्धांत पर खरा नहीं उतरता जिस पर लोकतंत्र का स्तंभ टिका है।
    
बीईए के मुताबिक कि कर्नाटक विधान सभा की कार्यवाही जारी रहने के दौरान सदन में कुछ विधायकों की ओर से मोबाइल फोन पर कथित रूप से अश्लील सामग्री देखने की घटना को टीवी चैनलों ने दिखाकर जनहित का काम किया है और यह काम बाकी सभी संस्थागत और व्यक्तिगत विशेषाधिकारों को पीछे छोड़ देता है।

संगठन ने बेंगलूर में वकीलों और गुंडों की ओर से पत्रकारों पर किए गए हमले पर भी चिंता जतायी और इस बात पर आश्चर्य प्रकट किया कि राज्य के मुख्यमंत्री इस घटना को सही करार दे रहे हैं। बयान में कह गया कि बीईए की पांच सदस्यीय टीम कर्नाटक विधान सभा से जुड़े मामले और इसके बाद हुई घटनाओं के तथ्यों का पता लगाएगी। टीम की अध्यक्षता बीईए के महासचिव और वरिष्ठ पत्रकार एन के सिंह करेंगे। घटना से जुड़े लोगों से मुलाकात करने और प्रासंगिक सामग्री इकटठा करने के बाद समिति एक हफ्ते में अपनी रिपोर्ट पेश करेगी। इसके बाद बीईए का एक प्रतिनिधिमंडल लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार से मुलाकात करेगा जो अखिल भारतीय स्पीकर सम्मेलन की भी अध्यक्ष हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पत्रकारों पर हमले को लेकर BEA ने जतायी चिंता